कोविड-19 से ज्यादा मानसिक बीमारियों से खतरा

कोरोना संकट से पूरा विश्व जूझ रहा है ऐसे में समूचे भारत में एक साथ लॉक डाउन 1 और लॉक डाउन 2 समय की मांग है जिसे हमें खुद के जीवन को बचाने की जद्दोजहद में स्वीकार ही करना होगा परंतु कोरोना का इलाज अत्यंत सरल सोशल डिस्टेंसिंग है किंतु कुछ मानसिक रूप से बीमार लॉक डाउन का पालन करने में अपने को असहज महसूस कर रहे हैं कई मानसिक बीमार लॉक डाउन तोड़ने के लिए भूख गरीबी डॉक्टर की पर्ची सेवा जरूरी सामान राशन ना जाने क्या-क्या बहाने बता रहे है परंतु यह समझना बहुत जरूरी है जान है तो जहान है आज देश के हालात कोरोना पर कैसे हैं इसे नीचे दिए गए चित्र से समझा जा सकता है

भोपाल -मध्यप्रदेश में लॉक डाउन के बाद भी स्थिति की संवेदनशीलता का अंदाजा कोविड-19 की कुल मरीजों की संख्या से लगाया जा सकता है आज मध्यप्रदेश में 1552 मामले पंजीकृत हैं जिसमें से तमाम मामले अकेले भोपाल और इंदौर के हैं आंकड़े संकेत करते हैं कि तमाम प्रशासनिक एवं पुलिस के सोशल डिस्टेंसिंग के पाठों के उपरांत भी मध्यप्रदेश में स्थिति चिंताजनक हैं यद्यपि मंत्रिमंडल का गठन हो गया है और शिवराज सरकार ने गहन चिंतन प्रारंभ कर दिया है परंतु सरकार को कोविड-19 से ज्यादा लॉक टाउन का उल्लंघन करने वालों से खतरा उत्पन्न होता प्रतीत हो रहा है वहीं दूसरी ओर राष्ट्रीय परिवेश में कोविड-19 को लेकर माथापच्ची जारी है किंतु मरीजों की संख्या 1998 4 होना अपने आप में चिंताजनक है मोदी के आह्वान पर देश के तमाम लॉक डाउन का सख्ती से पालन कर रहे हैं परंतु कुछ लोग ऐसे हैं कि उन्हें ना खुद की चिंता है और ना अपने परिवार जनों की इनसे देश और राष्ट्र की चिंता करना कहना तो बेईमानी ही होगी ऐसे लोगों पर पुलिस की सख्ती जरूरी ही लगती हैं क्योंकि चंद लापरवाह लोगों के लिए देश के तमाम लोगों की जान को खतरे में डाल देना अकल मंदी नहीं होगी अब तक देश 640 लोगों को करोना की जंग में खो चुका है खुशी की बात है की डॉक्टरों ने कड़ी मेहनत कर और अपनी जान जोखिम में डालकर 3870 मरीजों को स्वास्थ्य लाभ दिया है लॉग डॉन 2 के बाद भी यदि हम मस्तिष्क से सोशल डिस्टेंस इन को समझने में विफल हो जाते हैं तो फिर नेता प्रशासन पुलिस डॉक्टर को दोष देना बेईमानी से ज्यादा कुछ नहीं होगा यद्यपि यह सही है कि ज्यादातर लोग लॉक डाउन का पालन कर अपने घरों में है परंतु कुछ मानसिक बीमारों के कारण देश का माहौल आओ हवा और कोविड-19 के हालात बिगड़ रहे हैं

Related posts

Leave a Comment