प्रधानमंत्री ने साफ-साफ कह दिया 30 जून तक करे काले धन की घोषणा स्वयं

प्रधानमंत्री ने सख्त लहजे में कहा है कि 30 जून तक अपनी अघोषित संपत्तियों की घोषणा कर दें अगर ऐसा नहीं किया गया तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी पाकिस्तान अभी आर्थिक संकटों की दौर से गुजर रहा है इसलिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का निधन के मामले को लेकर तल्ख रवैया अपना रहे हैं उन्होंने संघीय बजट के दौरान संबोधित करते हुए कहा कि अगर हम भी महान देशों की श्रेणी में खड़े होना चाहते हैं तो हमें कार्य भी महान करना पड़ेगा और हमें अपने आप को बदलना होगा इसलिए मेरी आप सब से गुजारिश है कि आप सभी सरकार द्वारा जो भी टैक्स लगाए जाते हैं उन्हें भरे और अपनी संपत्ति की घोषणा करें यदि हम ऐसा नहीं करेंगे तो हम विकास नहीं कर पाएंगे साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है कि हमें यह नहीं मालूम है कि देश में किसके पास कितनी बेनामी संपत्ति कहां पर है हमारी एजेंसियों को उन लोगों के बारे में जानकारी है जिनके पास बेनामी संपत्तियां और बेनामी खाते हैं उन्होंने देश की आर्थिक स्थिति के बारे में चर्चा करते हुए बताया कि 10 वर्षों में पाकिस्तान का कर्ज ₹6000 से बढ़कर ₹30000 तक पहुंच गया है ऐसी स्थिति में देश के पास अपने खर्चे के लिए पैसे नहीं है पाकिस्तान दुनिया के अंदर भाग्यशाली देशों में शामिल है जहां बहुत कम लोग टैक्स देते हैं एक महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए हम अपने पाठकों को बताना चाहेंगे कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने हाल ही में पाकिस्तान को कर से उबरने के लिए $6000000000 की मदद भी दी थी अब देखते हैं कि वास्तव में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने देश को क्या आर्थिक संकटों से उबार पाते हैं या अब भी पाकिस्तान अपने ही ढर्रे पर काम करता रहेगा केवल बड़ी-बड़ी बातें करके ही अपने देश लोगों को गुमराह करता रहेगा

Related posts

Leave a Comment