मध्य प्रदेश सरकार की तैयारी

मध्यप्रदेश चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा— डॉ विजय लक्ष्मी साधो

जनता जनार्दन की अनेकों उम्मीदों और आशाओं के बीच मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार की ताजपोशी हुई जनता की अपेक्षाएं और जनता की अपेक्षा के अनुसार सरकार का क्रिया कलाप यही वह बिंदु है जो किसी सरकार की सफलता या असफलता का निर्णय निर्धारण करते हैं इसी दौर में मध्यप्रदेश सरकार का चिकित्सा सुविधाओं को सुधारने और संभालने का प्रयास सार्थक हो तो प्रदेश की एक बहुत बड़ी समस्या समाधान हो जाएगी सुनिए क्या कहती है मध्य प्रदेश की चिकित्सा शिक्षा मंत्री

प्रदेश की चिकित्सा शिक्षा, आयुष मंत्री डॉ0 विजय लक्ष्मी साधो ने कहा है कि मध्यप्रदेश चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है। प्रदेश के प्रमुख मेडिकल कॉलेजों में स्पेशल कोर्स शुरु किये जा रहे हैं। जिसके बाद यहां के डॉक्टरों को डीएम या एमसीएच कोर्स करने के लिये एम्स या पीजीआई जाने की जरुत नहीं रहेगी। डॉ साधो यह बात आज शहडोल में प्रेस को सम्बोधित करते हुवे कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश में चिकित्सा शिक्षा के यूजी कोर्स के लिये 600 सीट थी जो बढ़कर 900 हो गई है। प्रदेश सरकार प्रयास कर रही है कि साल 2021—22 तक प्रदेश में यूजी की सीट बढ़कर 3000 हो जाये और पीजी की सीटें 1500 हो जाये। डॉ साधो ने कहा कि प्रदेश में डीएम, एमसीएच कोर्स में केवल 9 डॉक्टर अध्ययनरत हैं। इसे 150 तक करने का लक्ष्य है। डॉ साधो ने एक प्रश्न का जवाब देते हुवे कहा कि चिकित्सा शिक्षा विभाग में प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी के पदों को जल्द भरा जायेगा। प्रदेश में 13 शासकीय मेडिकल कालेज संचालित हैं। डॉ साधो ने कहा कि 7 नये मेडिकल कॉलेज खोलने का प्रस्ताव है।

Related posts

Leave a Comment