मेट्रोमोनियल साइट की शिकार हुई महिला अधिकारी, शादी के बाद ठगी कर फरार हुआ आरोपी

हम आधुनिकीकरण के इस दौर से गुजर रहे हैं कि अब शादी विवाह जैसे गंभीर संबंध भी ऑनलाइन होने लगे हैं जहां पहले एक और घर के बड़े बुजुर्ग भी इन संबंधों के लिए बात करते थे और विवाह संबंध स्थापित किया जाता था वहीं आज बड़े बुजुर्गों से पूछना तो दूर ऑनलाइन ही संबंध स्थापित हो जाते हैं ।
बिलासपुर की महिला एवं बाल विकास विभाग की महिला अफसर के साथ ऐसी ही कोई घटना घटित हुई जिसमें की महिला अफसर ने shaadi.com पर अपनी प्रोफाइल डाली थी जिस पर गुजरात के वीरम गांव निवासी निलेश दोशी ने उनसे विवाह का प्रस्ताव भेजा और दोनों में बातचीत शुरू हुई जिसके पश्चात 2017 में दोनों परिवारों की मुलाकात हुई और नीलेश दोशी ने बताया कि वह अविवाहित है और साथ ही महाराष्ट्र में उसका अपना होटल है दोनों परिवारों की भी आपस में मुलाकात हुई और दोनों ही परिवार शादी के लिए रजामंद हो गए उसी वर्ष 22 दिसंबर 2017 को आर्य समाज में दोनों का विधिवत विवाह संपन्न भी हुआ ।विवाह के बाद महिला और इलेश राजेंद्र नगर के एक रेसिडेंसी में रहने भी लगे। कुछ समय बाद महिला अधिकारी को निलेश के अन्य महिलाओं से संबंध पर शक हुआ जिसकी पूछताछ पर शक और गहरा हुआ लेकिन इन्हें इस बात को लेकर महिला अधिकारी को मारपीट कर धमकाने लगा इस बात से महिला अधिकारी का शक यकीन में बदल गया और उसने उसके होटल की जानकारी भी इकट्ठी करनी शुरू की तब पता चला कि उसका ऐसा कोई होटल महाराष्ट्र में नहीं है ।साथ ही यह भी पता चले कि वह शादीशुदा है जब महिला अधिकारी ने यह सारी बात पुलिस को बताया तो वह भाग गया और उसने अपना फोन भी बंद कर लिया। महिला अधिकारी ने बताया कि शादी के बाद से ही इलेश उससे पैसे की मांग करता था शुरू शुरू में तो पैसा दिया किंतु बाद में उसने पैसा देना बंद कर दिया एक बार महिला अधिकारी ने उसे ₹648935 का चेक दिया था पर वह पैसे इलेश ने उसे वापस नहीं किए जबकि उसने बिजनेस से फायदा होने के बाद पैसे वापस करने की बात कही थी ।महिला की शिकायत पर जब पुलिस ने जांच पड़ताल की तो पता चला कि इलेश मैट्रिमोनियल साइट पर विज्ञापन देने वाली नौकरी पेशा ,तलाकशुदा ,अकेली महिलाओं को इसी तरीके से प्रस्ताव भेजकर शादी करता है और उनका शारीरिक एवं आर्थिक शोषण करता है। उसने इसी प्रकार से मुंबई की एक अन्य महिला के साथ हुई ठगी किया था।
मेट्रोमोनियल साइट से शादी जैसे संबंध स्थापित करना पूर्ण रूप से गलत तो नहीं है किंतु विवाह पूर्व सही तरीके से जांच पड़ताल और अगर रहना आवश्यक है

Related posts

Leave a Comment