यहां छिड़ी है नई जंग, नाम है होमवर्क कर्फ्यू, 10:00 बजे सो जाना होगा अनिवार्य

शिक्षा विभाग ने 33 सूत्री एजेंडा जारी कर दिया है जिसका माता-पिता विरोध कर रहे हैं शिक्षा विभाग के इस 33 बिंदुओं वाले दिशानिर्देश में कहा गया है कि बच्चों को 10:00 बजे से पहले सोना अनिवार्य होगा जाने कहां का है यह पूरा मामला ।

चीन के जिनजियांग प्रांत में इन दिनों एक निर्देश को लेकर बहस छिड़ गई है इस बहस की वजह है
बच्चों के लिए जारी किए गए निर्देश जिसमें होमवर्क से ऊपर सोने के समय को पहले तवज्जो दी गई है यहां स्कूली बच्चों के लिए नए नियम लागू कर दिए गए हैं जिसके अनुसार सभी बच्चों को रात 10:00 बजे के पहले सोना जरूरी है साथ ही यह भी कहा गया है कि प्राइमरी स्कूल के बच्चों को 9:00 बजे ही बिस्तर पर लिटा दिया जाए ,चाहे उनका होमवर्क पूरा हुआ हो या ना हुआ हो खास बात तो यह है कि माता-पिता इस दिशा निर्देश की आलोचना कर रहे हैं उनका कहना है कि इस तरीके से तो हमारे बच्चे प्रतिस्पर्धा में पीछे हो जाएंगे।

अभिभावकों को इस बात की चिंता सता रही है कि बच्चों पर अगर होमवर्क का दबाव नहीं रहेगा तो बच्चे मन लगाकर पढ़ाई नहीं करेंगे और आगे की प्रतिस्पर्धा में पिछड़ जाएंगे इसलिए माता पिता का कहना है कि बच्चों को रिलैक्स नहीं देना चाहिए और वह चाह रहे हैं कि इस प्रकार के नियमों को वापस ले लिया जाए जबकि शिक्षा विभाग द्वारा 33 बिंदु वाली इस दिशा निर्देश में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि चाहे बच्चों का होमवर्क पूरा हो या ना हो उन्हें रात 10:00 बजे के पहले सुला दिया जाए माता पिता दूसरों के साथ अपने बच्चों की प्रतिस्पर्धा ना करवाएं साथ ही साथ यह बात भी लिखी है कि वीकेंड पर और छुट्टियों के दौरान बच्चों से अतिरिक्त पढ़ाई भी ना करवाई जाए माता-पिता इस बात से खासे नाराज नजर आ रहे हैं क्योंकि माता पिता का कहना है कि बच्चों को आगे की पढ़ाई के लिए यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेना होता है जिसकी पढ़ाई बहुत कठिन होती है इसकी आदत बच्चों को शुरू से पड़ी रहेगी तो ही वह इस प्रतिस्पर्धा में भाग ले पाएंगे और यूनिवर्सिटी में उनका सिलेक्शन हो पाएगा बहरहाल इस पूरे प्रकरण को पेरेंट्स में कर्फ्यू बताया है तथा यह आजकल चीन में चर्चा का एक आम मुद्दा बन गया है

Related posts

Leave a Comment