लॉक डाउन 4 पर एक बार फिर लगी मुहर, क्या होगा स्वरूप

*प्रधानमंत्री जी ने अपने भाषण में क्या कहा पूरी बात समझे और जाने*


आज समूचे विश्व में  कोविड-19 को लेकर विभिन्न  समस्याएं सामने आ रही हैं भारत ही नहीं आज लगभग पूरी दुनिया  मे लॉक डाउन है जिन वीर देशों ने लॉक डाउन की आवश्यकता नहींं जानी और समझी उनकी बेबसी दुनिया के सामने है इस पूरे षडयंत्र का मास्टरमाइंड चाइना है या फिर कोई प्राकृतिक आपदा इन सब सवालोंं के जवाब  आने वाला समय ही दे पाएगा इन्हीं परिस्थितियो मैं हमें देश को बचाने के लिए एक नए विजन के साथ काम करना होगा प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमेआगे बढ़ना भी  और अपने को मजबूत करना है एक वायरस ने दुनिया को तहस-नहस कर दिया भारत में अनेक परिवारों ने अपने खोए ऐसा संकट दुनिया में पहले कभी नहीं देखा गया मानव को संकट से टूटना और बिखरने से बचना होगा कोरोना से बचना और आगे बढ़ना होगा हमें बचना भी है और बढ़ना भी होगा 21वीं सदी भारत की हो यह हमारी जिम्मेदारी है एक राष्ट्र के रूप में एक संदेश सरकार ने कोरोना संकट से जुड़े भारती घोषणा की रिजर्व बैंक और आज जिस आर्थिक पैकेज का ऐलान हो रहा करोड़ 20 लाख करोड़ भारत की जीडीपी का करीब करीब 10% है सब के जरिए देश के विभिन्न वर्गों को आर्थिक व्यवस्था की कड़ियों को 2000000 संबल मिलेगा सपोर्ट में 2020 में देश की विकास यात्रा को 2018 आत्मनिर्भर भारत अभियान को एक नई गति दे आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को सिद्ध करने के लिए इस पैकेज में नेबर लिक्विडिटी और नॉट सभी पर बल दिया आर्थिक पैकेज हमारे कुटीर उद्योग उद्योग हमारे लघु मंजुले उद्योग हमारे एमएसएमई के लिए हैं जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन जो आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प का मजबूत आधार है आर्थिक पैकेज फेस के लिए है फेश के उस किसान के लिए है जो हर स्थिति हर मौसम में देशवासियों के लिए रात परिश्रम हमारे देश के मध्यम वर्ग के लिए आर्थिक पैकेज भारतीय उद्योग जगत के लिए भारत के आर्थिक सामर्थ्य को बुलंदी देने के लिए संकल्प कल से आने वाले कुछ दिनों तक वित्त मंत्री जी द्वारा आप को आत्मनिर्भर भारत प्रेमी इस आर्थिक पैकेज की विस्तार से जानकारी दी जाए आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए बोर्ड रिफॉर्म्स की प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ना अनिवार्य है आपने भी अनुभव किया है यूनिफॉर्म के कारण आज संकट के इस समय भारत की व्यवस्थाएं कमजोर नजर आई कौन सोच सकता था भारत सरकार जो पैसे भेजे वो गरीब की जेब में किसान की जेब में पहुंच पाएगा तमाम सरकारी दफ्तर बंद थे ट्रांसपोर्ट के साधन बनते जन धन आधार मोबाइल जुड़ा था। निष्कर्ष के रूप में हम कह सकते हैं कि आने वाले समय में लॉक डाउन  4को लेकर सरकार अपने प्लान की घोषणा राज्यों के परामर्श पर आगामी 18 तारीख तक कर देगी

Related posts

Leave a Comment