शाइनिंग स्टार अवार्ड से सम्मानित हुई गौरी बालापुरे

आज की महिला हर क्षेत्र में आगे हैं चाहे राजनीति हो या उद्योग ,शिक्षिका हो या एयर होस्टेज ,पुलिस हो आर्मी का क्षेत्र किसी भी क्षेत्र में महिलाएं पीछे नहीं हैं तो फिर प्रजातंत्र के चौथे स्तंभ में अपनी भूमिका निभाने में कैसे पीछे हट सकती हैं इसी पत्रकारिता के क्षेत्र में बैतूल जैसे छोटे से जिले पर सामाजिक जागरूकता के लिए कार्य करने वाली गौरी बालपुरे का नाम अग्रणी है गौरी बालपुरे को सामाजिक जागरूकता के लिए कार्य करने के क्षेत्र में भारत की सबसे छोटी राष्ट्रीय युवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

गौरी बालापुरे पदम को मिला शायनिंग स्टार अवार्ड
बैतूल/सामाजिक जागरूकता के लिए कार्यरत् भारत की सबसे छोटी राष्ट्रीय युवा पुरस्कार प्राप्त करने वाली युवा एवं जिले की पहली महिला पत्रकार गौरी बालापूरे पदम को ऑल इंडिया उमन आर्गेनाईजेशन द्वारा मंगलवार को सम्मानित किया गया। सम्मान समारोह कार्यक्रम भोपाल के मोटल सिराज में आयोजित किया गया।

यह सम्मान उन महिलाओं और बच्चों के अलावा देश की सरहदों पर 19 वर्षों से रक्षा बंधन का पर्व अपनी पूरी टीम के साथ मनाने के अलावा तीन वर्षों से जिला मुख्यालय बैतूल में ऑटो एम्बुलेंस का सफल संचालन के माध्यम से 200 से अधिक घायलों की जिंदगी ऑटो चालकों के माध्यम से सुरक्षित करने के एवज में दिया गया।

शायनिंग स्टार अवार्ड सम्मान कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ.एन.पी. मिश्रा, विशेष अतिथि ब्रिगेडियर समीर कुमार सिंह, संस्था अध्यक्ष इला द्विवेदी एवं राजीव गांधी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन की वाइस चेयर पर्सन मौजद रही। सभी ने श्रीमती बालापुरे पदम को अवार्ड देकर सम्मानित किया है और उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों को सराहा है। इंडियन उमन क्लब द्वारा कई वर्षों से देश एवं प्रदेश की प्रतिष्ठित एवं अलग-अलग क्षेत्रों में अपनी पहचान बनाने वाली महिलाओं एवं युवतियों को भी सम्मान दिया जाता है।
उल्लेखनीय है कि श्रीमती पदम ने बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति एवं अपने द्वारा बनाए गए नारी सशक्त समाज वॉट्सअप ग्रुप के सहयोग से डॉटर्स डे पर प्रदेश के पहले सशक्त सुरक्षा सेनेटरी बैंक की स्थापना की है। इसके अलावा कई सामाजिक कार्यों में वे अपनी सहभागिता दर्ज कराती है। दो दशकों से सेवा कार्यों को देखते हुए उन्हें बीते वर्षों में जहाँ देश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय युवा पुरस्कार भारत सरकार ने प्रदान किया है। वहीं समाजसेवा सम्मान राजीव गांधी समरसता अवार्ड, नारायण समर्पिता जैसे पुरस्कारों सहित तीन सैकड़ा से अधिक अवार्ड मिल चुके है। पुरस्कार प्राप्त के दौरान इनके साथ समिति के सुमित नागले, नीलम वागद्रे, पूर्वी वागद्रे, सचिव भरत पदम, वंश पदम भी मौजूद थे।

Related posts

Leave a Comment