स्कूल खोलने कुछ इस प्रकार बनाई जा रही हैं योजनाएं 2 शिफ्ट में बुलाएंगे बच्चों और शिक्षकों को

भोपाल// कोरोनावायरस के संक्रमण के चलते ना केवल देश की अर्थव्यवस्था और अन्य कार्य प्रभावी प्रभावित हुए हैं साथ ही साथ विश्वविद्यालय महाविद्यालय एवं स्कूली छात्र-छात्राओं की परीक्षाएं एवं आगामी सत्र की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। इसी को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा स्कूल खोले जाने को लेकर नई योजना बनाई जा रही है, ऐसा माना जा रहा है कि इस योजना में बच्चों को 2 शिफ्टों में बुलाया जाएगा। जिसमें कोरोनावायरस के खतरे से बचाव के लिए केवल सरकारी आदेशों का ही पालन नहीं करना है बल्कि स्कूल प्रबंधन को भी अपने स्तर पर सुरक्षा के विभिन्न पहलुओं पर विचार करते हुए ही स्कूल खोला जाना है ।हालांकि अभी यह निर्णय पूर्ण रूप से नहीं लिया गया है केवल इस प्रकार की योजनाओं पर चर्चा की जा रही है योजनाओं पर कार्य केवल सरकारी ही नहीं बल्कि निजी संस्थानों द्वारा भी किया जाएगा, इसके लिए निजी स्कूल संचालकों से भी विचार विमर्श किया जाएगा, किंतु समस्या निजी स्कूलों की कम है क्योंकि वहां बच्चों की संख्या कम होती है ,समस्या सरकारी स्कूलों में अधिक होगी क्योंकि वहां प्रति कक्षा में बच्चों की संख्या अधिक होती है ।इसी प्रकार की कुछ समस्या शिक्षकों के लिए भी आ सकती हैं क्योंकि बच्चों को तो दो शिफ्ट में बुलाया जा सकता है किंतु एक ही विषय के शिक्षकों को एक ही कक्षा के लिए 2,2 वही विषय को पढ़ाना होगा इतना आसान नहीं होगा। यह सारी व्यवस्थाएं जुटा पाना हालांकि इस मामले में यह बात भी सामने रखी गई है कि यह व्यवस्थाएं मिडिल स्कूल हाई एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों तथा विद्यालयों एवं महाविद्यालय तथा विश्वविद्यालयों के बच्चों के लिए की जाएगी ,इसमें नर्सरी केजी के बच्चों को नहीं बुलाया जाएगा। संभवत उनकी कक्षाएं ऑनलाइन ही लगाई जाएंगे ।अब देखना यह है कि आगे राज्य सरकार इस पर क्या योजना तैयार करती है एवं आने वाले समय में किस प्रकार से इसका क्रियान्वयन किया जाएगा।

Related posts

Leave a Comment