छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ सरकार है अग्रणी

छत्तीसगढ़ सरकार है अग्रणी

छत्तीसगढ़
रायपुर न्यूज 4 इंडिया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गठन के 17 वर्षों में विभिन्न क्षेत्रों में छत्तीसगढ़ की उपलब्धियों की सराहना करते  हुए कहा कि खनिज संपदा से संपन्न इस राज्य में विकास की अपार संभावनाएं हैं श्री कोविंद नया रायपुर में देर शाम राज्य गठन की 17 वीं वर्षगांठ पर आयोजित पांच दिवसीय कार्यक्रमों के समापन उत्सव पर राज्य की महान विभूतियों के नाम पर स्थापित राज्य  अलंकरणों से 18 नागरिकों और पांच संस्थाओं को सम्मानित करने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लंबे संघर्ष के बाद अस्तिवत्व में आए इस राज्य को आगे बढ़ाने में रमनसिंह सरकार बहुत अच्छा कार्य कर रही है। राज्य के खाद्य सुरक्षा कानून, वनवासियों को मुफ्त में नमक 56 लाख परिवारों को निशुल्क स्वास्थ्य बीमा कार्ड जैसे राज्य में चल रहे कई लोक कल्याणकारी कार्यों का जिक्र करते हुए कहा कि जिन उद्देश्य को लेकर नए
दुष्कर्म का अंजाम

दुष्कर्म का अंजाम

छत्तीसगढ़
डिंडौरी न्यूज 4 इंडिया। जिले के मेहंदवानी थाना क्षेत्र के गुंझियार गांव में ढाई साल पहले ग्यारह साल की एक लड़की को दुष्कर्म के बाद मार डालने के मामले में 3 नवंबर को दो व्यक्तियों को फांसी की सजा सुनाई है। जिला एवं सत्र न्यायाधीश भागवती चौधरी ने मामले को क्रूरतम मानते हुए यह सजा सुनाई। डिंडौरी में इस तरह का अब तक का यह पहला निर्णय है। फांसी की सजा पाने वाले अभियुक्त सतीश (30) पिता जेहर सिंह धूमकेती और भगवानी सिंह (25) पिता जवाहर सिंह मरकाम है। उन्होंने 14 और 15 अप्रैल 2015 को गुंझियारी में लड़की के साथ दुष्कर्म किया और बाद में उसकी हत्या कर दी थी। दोनों ने गिरफ्तारी के बाद अपना गुनाह कबूल कर लिया था। ट्रायल में भी गुनाह साबित हुआ। उनके खिलाफ धारा 376 क, 376 (1), 376 (घ),  376 (2) क, 302, 201, 346, 364 और बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 4, 6 के तहत मामला चल रहा था। इनमें न्याया
सुरक्षा कर्मियों पर हमला, जवान गंभीर

सुरक्षा कर्मियों पर हमला, जवान गंभीर

छत्तीसगढ़
शहडोल न्‍यज 4 इंडिया। सोन घडि़याल अभ्‍यारण में रेत का अवैध उत्‍खनन रोकने पहुंचे वन विभाग व पुलिस की संयुक्‍त टीम पर हथियारबंद माफियाओं ने हमला कर दिया। घटना 1 नवंबर रात करीब 1.30 बजे की है। हमले में एसएएफ का जवान रमेश जायसवाल गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे रीवा, मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। खनन माफियाओं ने सुरक्षाबलों पर ट्रैक्‍टर चढ़ाने का प्रयास किया और दो बंदूकें भी तोड़ दीं। वन परिक्षेत्र सहायक तरूण प्रताप सिंह की शिकायत पर देवलोंद थाने में दो नामजद ददन व पिंटू बैस समेत दो दर्जन से ज्‍यादा अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कर ली गई है। पुलिस के मुताबिक अवैध उत्‍खनन की सूचना पर संयुक्‍त दल झिरिया ग्राम में सोन नदी के तट पर पहुंचा था। मौके पर एक दर्जन से अधिक ट्रैक्‍टर-ट्रालियों में रेत भरी जा रही थी। जिन्‍हें रोकने का प्रयास करने पर दो दर्जन से ज्‍यादा हमलावर सुरक
एसपी बने डॉन

एसपी बने डॉन

छत्तीसगढ़
बिलासपुर न्‍यूज 4 इंडिया। बिलासपुर के युवा राहुल परी सामाजिक विषयों पर डॉक्‍यूमेंट्री  और शॉर्ट फिल्‍में बनाते हैं। समाज में बढ़ते अपराधों को देखते हुए उन्‍होंने सकारात्‍मक संदेश देने वाली फिल्‍में बनानी शुरू कीं। इसी दौरान उन्‍होंने अपराधियों पर कार्रवाई करने वाली पुलिस और उस पर फैसले लेने वाले जजों को जोड़ना शुरू किया। साथ ही इन्‍हें अपनी फिल्‍मों में अलग-अलग किरदार निभाने के लिए भी तैयार कर लिया। शुरूआती कामयाबी के बाद दो साल में अलग-अलग मुद्दों पर 22 शॉर्ट फिल्‍में और डॉक्‍यूमेंट्री बना चुके हैं। असल जिंदगी के एसपी, डीएसपी इन फिल्‍मों में डॉन या गब्‍बर की भूमिका निभाते हैं। जज साहब फिल्‍मों के अंत में संदेश देते हैं। ये सभी अधिकारी छत्‍तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों के हैं। इनमें बिलासपुर के एसपी मयंक श्रीवास्‍तव, जांजगीर के एसपी अजय यादव और रायपुर के एसपी संजीव शुक्‍ला के अलावा जगदलपुर क
जागरूकता पटाखा उद्योग में प्रतिबंधों के साये

जागरूकता पटाखा उद्योग में प्रतिबंधों के साये

छत्तीसगढ़
रायपुर न्यूज 4 इंडिया। दिल्ली पटाखों की बिक्री के बैन करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इस मुद्दे पर पूरे देश में बहस चल रही हैं इस बीच 10 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ सरकार ने भी अपने यहां तेज आवाज और खतरनाक रसायन वाले पटाखे बैन कर दिये। महाराष्ट्र में बाम्बे हाईकोर्ट ने भी रिहायशी इलाकों में पटाखे बेचने पर बैन वाला पिछले साल का आदेश दोबारा जारी कर दिया। इसके कुछ समय बाद ही मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपंद्र सिंह के एक ट्वीट ने इस मुद्दे को हवा दे दी। उन्होंने ट्वीट किया- मप्र में पटाखे जलाकर दिवाली मनाने की पूरी स्वतंत्रता है। उनका यह ट्वीट जबरदस्त तरीके से ट्रोल हुआ। कुछ लोगों ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद की गई यह टिप्पणी उसका मजाक है। कुछ ने मंदसौर गोलीकांड को जोड़ते हुए भी गृहमंत्री पर निशाना  साधा। इस बीच त्रिपुरा के राज्यपाल ने ट्वीट किया-अवार्ड वापसी गैंग हिंदुओं की चिता
तांत्रिक ने किया मासूम पर अत्याचार

तांत्रिक ने किया मासूम पर अत्याचार

छत्तीसगढ़
झाबुआ न्यूज 4 इंडिया। झाबुआ जिले की सीमा पर स्थित पिटोल क्षेत्र के बड़ी बावड़ी गांव में स्वाइन फ्लू पीड़ित बच्ची की चिमटे से दागने का मामला सामने आया है। सात माह की इस बच्ची को गुजरात के दाहोद स्थित सरकारी अस्पताल में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई थी। अस्पताल ने उसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया, लेकिन पिता रात में बिना बताए उसे घर ले आया। इसके बाद वह बेटी को लेकर गुजरात के झालोद गया और तांत्रिक को दिखायां तांत्रिक ने इलाज के नाम पर बच्ची को छह जगह चिमटे से दाग दिया। इसी बीच दाहोद के सरकारी अस्पताल प्रबंधन की ओर से झाबुआ कलेक्टर आशीष सक्सेना व सीएमएचओ डॉक्टर डीएस चौहान को सूचना दी गई। तब प्रशासन सक्रिय हुआ।
फफक-फफक कर रोए जिला पंचायत अध्यक्ष

फफक-फफक कर रोए जिला पंचायत अध्यक्ष

छत्तीसगढ़
शहडोल  न्यूज 4 इंडिया। अपनी पार्टी की सरकार और सत्ता के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र मरावी 22 सितंबर को दोपहर 3 बजे मीडिया के सामने फफक-फफक कर रो पड़े। मरावी भाजपा समर्थित जिला पंचायत अध्यक्ष हैं, लेकिन आज वे खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं। अपनी उपेक्षा से दुखी होकर मरावी 22 सितंबर को रो पड़े। अधिकारियों के खिलाफ कलेक्ट्रेट में धरना दे रहे जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र मरावी ने 22 सितंबर को पत्रकारों से जब अधिकारियों की मनमानी की बात कह रहे थे, उसी दौरान वे काफी भावुक हो गए और रोने लगे। लोग उन्हें ढांढस बंधाने लगे, इसके बाद उन्होंने आसू पोंछते हुए कहा कि मुझे बहुत दुख है कि अभी तक कोई अधिकारी पूछने और मिलने तक नहीं आया, मैं जिला पंचायत अध्यक्ष की जगह चपरासी भी होता तो लोगों को पानी पिलाकर सेवा करता। नरेंद्र मरावी जिला पंचायत सदस्यों के साथ अधिकारियों की मनमानी औ
ब्लू व्हेल गेम खेल अपने दोस्तों को किया चैलेंज

ब्लू व्हेल गेम खेल अपने दोस्तों को किया चैलेंज

छत्तीसगढ़
रायपुर न्यूज 4 इंडिया। छत्तीसगढ़ के बालोद में 6 छात्र सुसाइड गेम ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ के जाल में फंस गए। सभी के हाथों पर ब्लेड और कांटे से कुरेदने के निशान मिले हैं। पता चला कि इनमें से केवल एक ही बच्चा है जो यह गेम खेलता था। बाकि को उसी ने कलाई काटने के लिए चैलेंज दिया था। गेम के बारे में पता चला सोचा-देखूं जरा, कैसा है मुझे जब ब्लू व्हेल गेम के बारे में पता चला तो सोचा कि देखूं जरा, कैसे खेलते हैं इंटरनेट पर ब्लू व्हेल गेम लिखकर सर्च किया। एक वीडिया आया, जिसमें कलाई काटकर ब्लू व्हेल या एफ-57 का निशान बना था। खेलने की इच्छा हुए। मैंने भी ब्लेड से अपनी कलाई पर वहीं लिख दिया। दूसरे दिन दोस्तों को निशान दिखाया और उनसे कहा- ‘यह टास्क सिर्फ मैं कर सकता हूं।’ तुम लोग डरपोक हो। मेरी बात सुन दोस्त भी जोश में आ गए और सभी ने ब्लेड और कांटे से कलाई पर कट के निशान  बना लिये। मां बोली 7 बज
गर्भवती महिलाओं की सहयोग राशि में होगी 1 हजार की कटौती

गर्भवती महिलाओं की सहयोग राशि में होगी 1 हजार की कटौती

छत्तीसगढ़
धमतरी न्‍यूज 4 इंडिया। गर्भवती महिलाओं को शासन से मिलने वाली सहयोग राशि में जल्द ही 1 हजार रुपए की कटौती हो सकती है क्योंकि गर्भवती महिलाओं के लिए अब प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना जल्द शुरू होने वाली है। इस योजना के तहत हर वर्ग के गर्भवती महिलाओं को तीन किश्तों में 5 हजार रुपए मिलेंगे। पहले से संचालित इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना में 6 हजार रुपए मिलते थे। यह योजना बंद हो सकती है। महिला एवं बाल विकास विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले में जल्द ही गर्भवती महिलाओं के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की शुरूआत होने वाली है। योजना के लांचिंग संबंधी जानकारी विभाग तक पहुंच चुकी है। इस योजना के तहत सभी वर्ग की गर्भवती महिलाओं को 5 हजार रुपए की सहायता मिलेगी। गर्भवती होने के रजिस्ट्रेशन कराने पर प्रथम किश्त में 1 हजार रुपए दिए जाएंगे। गर्भवती होने के 6 माह बाद दूसरी किश्त 2 हजार रुपए
वर्ष 2022 तक पूर्ण साक्षर होगा देश : प्रकाश जावड़ेकर

वर्ष 2022 तक पूर्ण साक्षर होगा देश : प्रकाश जावड़ेकर

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। जावड़ेकर, राजधानी के इंडोर स्टेडियम परिसर में मुख्यमंत्री अक्षर सम्मान एवं अक्षर सम्मेलन में उपस्थित लोगों को संबोधित  कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के समय वर्ष 1947 में साक्षरता प्रतिशत 18 था। अब बढ़कर 81 प्रतिशत हो गया है। फिर भी देश में 19 प्रतिशत लोग साक्षर नहीं हैं। उनके अनुसार साक्षर भारत अभियान से जुड़े सभी लोगों के साथ-साथ स्कूली बच्चों की भागीदारी से यह लक्ष्य आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। प्रदेश में 98 प्रतिशत बच्चे स्कूल जाते हैं। कक्षा 6वीं के बच्चों को प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि वह घर में अपने माता-पिता और दादा-दादी को भी साक्षर बना सकें। प्रेरक करेंगे अब डिजिटल साक्षर अक्षर ज्ञान की जगह अब प्रेरकों को डिजिटल साक्षरता की जिम्मेदारी दी जाएगी। वे गांव, मोहल्ले व बस्तियों में रहने वालों को कम्प्यूटर सिखाएंगे, ताकि डिजिटल इंडिया क