छत्तीसगढ़

जागरूकता पटाखा उद्योग में प्रतिबंधों के साये

जागरूकता पटाखा उद्योग में प्रतिबंधों के साये

छत्तीसगढ़
रायपुर न्यूज 4 इंडिया। दिल्ली पटाखों की बिक्री के बैन करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इस मुद्दे पर पूरे देश में बहस चल रही हैं इस बीच 10 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ सरकार ने भी अपने यहां तेज आवाज और खतरनाक रसायन वाले पटाखे बैन कर दिये। महाराष्ट्र में बाम्बे हाईकोर्ट ने भी रिहायशी इलाकों में पटाखे बेचने पर बैन वाला पिछले साल का आदेश दोबारा जारी कर दिया। इसके कुछ समय बाद ही मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपंद्र सिंह के एक ट्वीट ने इस मुद्दे को हवा दे दी। उन्होंने ट्वीट किया- मप्र में पटाखे जलाकर दिवाली मनाने की पूरी स्वतंत्रता है। उनका यह ट्वीट जबरदस्त तरीके से ट्रोल हुआ। कुछ लोगों ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद की गई यह टिप्पणी उसका मजाक है। कुछ ने मंदसौर गोलीकांड को जोड़ते हुए भी गृहमंत्री पर निशाना  साधा। इस बीच त्रिपुरा के राज्यपाल ने ट्वीट किया-अवार्ड वापसी गैंग हिंदुओं की चिता
तांत्रिक ने किया मासूम पर अत्याचार

तांत्रिक ने किया मासूम पर अत्याचार

छत्तीसगढ़
झाबुआ न्यूज 4 इंडिया। झाबुआ जिले की सीमा पर स्थित पिटोल क्षेत्र के बड़ी बावड़ी गांव में स्वाइन फ्लू पीड़ित बच्ची की चिमटे से दागने का मामला सामने आया है। सात माह की इस बच्ची को गुजरात के दाहोद स्थित सरकारी अस्पताल में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई थी। अस्पताल ने उसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया, लेकिन पिता रात में बिना बताए उसे घर ले आया। इसके बाद वह बेटी को लेकर गुजरात के झालोद गया और तांत्रिक को दिखायां तांत्रिक ने इलाज के नाम पर बच्ची को छह जगह चिमटे से दाग दिया। इसी बीच दाहोद के सरकारी अस्पताल प्रबंधन की ओर से झाबुआ कलेक्टर आशीष सक्सेना व सीएमएचओ डॉक्टर डीएस चौहान को सूचना दी गई। तब प्रशासन सक्रिय हुआ।
फफक-फफक कर रोए जिला पंचायत अध्यक्ष

फफक-फफक कर रोए जिला पंचायत अध्यक्ष

छत्तीसगढ़
शहडोल  न्यूज 4 इंडिया। अपनी पार्टी की सरकार और सत्ता के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र मरावी 22 सितंबर को दोपहर 3 बजे मीडिया के सामने फफक-फफक कर रो पड़े। मरावी भाजपा समर्थित जिला पंचायत अध्यक्ष हैं, लेकिन आज वे खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं। अपनी उपेक्षा से दुखी होकर मरावी 22 सितंबर को रो पड़े। अधिकारियों के खिलाफ कलेक्ट्रेट में धरना दे रहे जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र मरावी ने 22 सितंबर को पत्रकारों से जब अधिकारियों की मनमानी की बात कह रहे थे, उसी दौरान वे काफी भावुक हो गए और रोने लगे। लोग उन्हें ढांढस बंधाने लगे, इसके बाद उन्होंने आसू पोंछते हुए कहा कि मुझे बहुत दुख है कि अभी तक कोई अधिकारी पूछने और मिलने तक नहीं आया, मैं जिला पंचायत अध्यक्ष की जगह चपरासी भी होता तो लोगों को पानी पिलाकर सेवा करता। नरेंद्र मरावी जिला पंचायत सदस्यों के साथ अधिकारियों की मनमानी औ
ब्लू व्हेल गेम खेल अपने दोस्तों को किया चैलेंज

ब्लू व्हेल गेम खेल अपने दोस्तों को किया चैलेंज

छत्तीसगढ़
रायपुर न्यूज 4 इंडिया। छत्तीसगढ़ के बालोद में 6 छात्र सुसाइड गेम ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ के जाल में फंस गए। सभी के हाथों पर ब्लेड और कांटे से कुरेदने के निशान मिले हैं। पता चला कि इनमें से केवल एक ही बच्चा है जो यह गेम खेलता था। बाकि को उसी ने कलाई काटने के लिए चैलेंज दिया था। गेम के बारे में पता चला सोचा-देखूं जरा, कैसा है मुझे जब ब्लू व्हेल गेम के बारे में पता चला तो सोचा कि देखूं जरा, कैसे खेलते हैं इंटरनेट पर ब्लू व्हेल गेम लिखकर सर्च किया। एक वीडिया आया, जिसमें कलाई काटकर ब्लू व्हेल या एफ-57 का निशान बना था। खेलने की इच्छा हुए। मैंने भी ब्लेड से अपनी कलाई पर वहीं लिख दिया। दूसरे दिन दोस्तों को निशान दिखाया और उनसे कहा- ‘यह टास्क सिर्फ मैं कर सकता हूं।’ तुम लोग डरपोक हो। मेरी बात सुन दोस्त भी जोश में आ गए और सभी ने ब्लेड और कांटे से कलाई पर कट के निशान  बना लिये। मां बोली 7 बज
गर्भवती महिलाओं की सहयोग राशि में होगी 1 हजार की कटौती

गर्भवती महिलाओं की सहयोग राशि में होगी 1 हजार की कटौती

छत्तीसगढ़
धमतरी न्‍यूज 4 इंडिया। गर्भवती महिलाओं को शासन से मिलने वाली सहयोग राशि में जल्द ही 1 हजार रुपए की कटौती हो सकती है क्योंकि गर्भवती महिलाओं के लिए अब प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना जल्द शुरू होने वाली है। इस योजना के तहत हर वर्ग के गर्भवती महिलाओं को तीन किश्तों में 5 हजार रुपए मिलेंगे। पहले से संचालित इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना में 6 हजार रुपए मिलते थे। यह योजना बंद हो सकती है। महिला एवं बाल विकास विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले में जल्द ही गर्भवती महिलाओं के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की शुरूआत होने वाली है। योजना के लांचिंग संबंधी जानकारी विभाग तक पहुंच चुकी है। इस योजना के तहत सभी वर्ग की गर्भवती महिलाओं को 5 हजार रुपए की सहायता मिलेगी। गर्भवती होने के रजिस्ट्रेशन कराने पर प्रथम किश्त में 1 हजार रुपए दिए जाएंगे। गर्भवती होने के 6 माह बाद दूसरी किश्त 2 हजार रुपए
वर्ष 2022 तक पूर्ण साक्षर होगा देश : प्रकाश जावड़ेकर

वर्ष 2022 तक पूर्ण साक्षर होगा देश : प्रकाश जावड़ेकर

छत्तीसगढ़
रायपुर न्‍यूज 4 इंडिया। जावड़ेकर, राजधानी के इंडोर स्टेडियम परिसर में मुख्यमंत्री अक्षर सम्मान एवं अक्षर सम्मेलन में उपस्थित लोगों को संबोधित  कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के समय वर्ष 1947 में साक्षरता प्रतिशत 18 था। अब बढ़कर 81 प्रतिशत हो गया है। फिर भी देश में 19 प्रतिशत लोग साक्षर नहीं हैं। उनके अनुसार साक्षर भारत अभियान से जुड़े सभी लोगों के साथ-साथ स्कूली बच्चों की भागीदारी से यह लक्ष्य आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। प्रदेश में 98 प्रतिशत बच्चे स्कूल जाते हैं। कक्षा 6वीं के बच्चों को प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि वह घर में अपने माता-पिता और दादा-दादी को भी साक्षर बना सकें। प्रेरक करेंगे अब डिजिटल साक्षर अक्षर ज्ञान की जगह अब प्रेरकों को डिजिटल साक्षरता की जिम्मेदारी दी जाएगी। वे गांव, मोहल्ले व बस्तियों में रहने वालों को कम्प्यूटर सिखाएंगे, ताकि डिजिटल इंडिया क
सियासी रंजिश के चलते ली 6 लाख की सुपारी

सियासी रंजिश के चलते ली 6 लाख की सुपारी

छत्तीसगढ़
रायपुर न्यूज 4 इंडिया। राजधानी से लगे इलाके आरंग के कुरूद कुटेला में मौजूदा सरपंच के पति गोवर्धन उर्फ बबला साहू को गोली मारने की सुपारी वहीं के पूर्व सरपंच और झोला डॉक्टर परस साहू ने दी थी। उसने सुपारी के तौर पर 6 लाख रूपए गांव के ही डोमन निषाद को दिए। वह भी बबला से चुनाव हारने की वजह से दुश्मनी रखता था। आरोपियों ने शूटर राजधानी के तेलीबांधा से हायर किया। सभी 4 सितंबर को गांव पहुंचे और बबला को तीन गोलियां मारकर भाग निकले। गोलीबारी में घायल बबला की हालत अब भी गंभीर पर स्थिर है। शूटर को छोड़कर बाकी तीन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वारदात के पीछे रेत खनन विवाद और राजनीतिक रंजिश सामने आईं है। आईजी प्रदीप गुप्ता ने बताया कि गोलीकांड की जांच में सरपंच पति बबला का कई लोगों से विवाद सामने आया। इसलिए खुफिया पुलिस के साथ-साथ मामले की तगड़ी तकनीकी जांच की गई। इसी में अहम क्लू मिले। यह भी पता
KBC में 15 लाख जीतने वाली अनुराधा को मिली विशेष अनुमति

KBC में 15 लाख जीतने वाली अनुराधा को मिली विशेष अनुमति

छत्तीसगढ़
रायपुर/बिलासपुर न्‍यूज 4 इंडिया। मुंगेली में पदस्थ प्रशिक्षु डिप्टी कलेक्टर अनुराधा अग्रवाल को केबीसी में भाग लेने की विशेष अनुमति मिल गई है। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह को जैसे ही इस प्रकरण का पता चला, उन्होंने अफसरों को बुलाकर कहा कि यह विशेष मामला है। वह अपने भाई के किडनी ट्रांसप्लांट के लिए केबीसी शो में जाकर रकम जीतना चाहती थीं। सीएम ने संवेदनशीलता दिखाते हुए अनुमति देने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री सचिवालय के अफसरों ने कहा कि सीएम के निर्देश के बाद मुंगेली कलेक्टर को पत्र जारी कर दिया गया है। मुंगेली कलेक्टर ने भी सोमवार को सरकार को पत्र लिखकर विशेष अनुमति देने का आग्रह किया था। ज्ञात हो कि अनुराधा खुद दिव्यांग हैं और वाकर के सहारे चलती हैं। उनका चयन केबीसी में हुआ तो उन्होंने अनुमति के लिए कलेक्टर के माध्यम से शासन को पत्र लिखा। सरकार से अनुमति मिलती, इससे पहले ही उन्हें मुंबई से
जशपुर में SDM ने महिला कर्मचारी को ब्लू व्हेल गेम खेलते पकड़ा

जशपुर में SDM ने महिला कर्मचारी को ब्लू व्हेल गेम खेलते पकड़ा

छत्तीसगढ़
जशपुर न्‍यूज 4 इंडिया। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के एक हाईस्कूल में महिला कर्मचारी को खतरनाक ब्लू व्हेल गेम खेलते हुए पकड़ा गया। मिली जानकारी के मुताबिक जशपुर जिले के चेटबा हाईस्कूल में सहायक ग्रेड तीन के पद पर कार्यरत महिला कर्मचारी को बगीचा एसडीएम ने ब्लू व्हेल गेम खेलते हुए पकड़ा। मिली जानकारी के मुताबिक महिला कर्मचारी ने खुद के हाथ को चोटिल किया हुआ था, इस बात पर एसडीएम को शक हुआ। महिला कर्मचारी मोना तर्की जशपुर जिले के जरिया गांव की रहने वाली है। फिलहाल मोना तिर्की को समझाइश देकर घर भेज दिया गया है और उनके मोबाइल से भी इस खतरनाक ब्लू व्हेल गेम को डिलीट कर दिया गया है।  

एक कॉल आया और बात भी की, लेकिन समझ पाता उससे ही पहले लुट गया

छत्तीसगढ़
एक कॉल आया और बात भी की, लेकिन समझ पाता उससे ही पहले लुट गया बिलासपुर न्‍यूज 4 इंडिया। बैंक अफसर बनकर ठगी करने वाले गिरोह ने वन विभाग के चौकीदार को शिकार बनाया है। एटीएम बंद होने का झांसा देकर ठग ने उनके खाते से 10 हजार रुपए पार कर दिया। रिपोर्ट पर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है। पुलिस के अनुसार घटना रतनपुर क्षेत्र के ग्राम गढ़वट की है। यहां रहने वाला शिवप्रताप कश्यप पिता तिलकराम (50) वन विभाग में चौकीदार है। शुक्रवार दोपहर 12 से 1 बजे के बीच उनके मोबाइल पर अनजान नंबर से कॉल आया। फोन करने वाले ने अपने आप को एसबीआई का अफसर बताया। साथ ही झांसा दिया कि उनका एटीएम कार्ड बंद होने वाला है, जिसे चालू करने के लिए आधार कार्ड का नंबर चाहिए। फोन करने वाले कथित अफसर ने उसे बातों में उलझा लिया और झांसा देकर एटीएम का कोड नंबर हासिल कर लिया। यही नहीं वन कर्मचारी से उसने ओटीपी नंबर