ज्योतिष

ज्योतिष सीखें

ज्योतिष सीखें

ज्योतिष
ज्योतिष सीखें न्‍यूज 4 इंडिया। अगर कुछ छोटी-छोटी बातों पर ग़ौर किया जाए, तो आसानी से ज्योतिष की गहराइयों में उतरा जा सकता है। ज्योतिष सीखने के इच्छुक नये विद्यार्थियों को कुछ बातें ध्यान में रखनी चाहिए- शुरूआत में थोड़ा-थोड़ा पढ़ें। जब तक पहला पाठ समझ में न आये, दूसरे पाठ या पुस्तक पर न जायें। जो कुछ भी पढ़ें, उसे आत्मसात कर लें। बिना गुरू-आज्ञा या मार्गदर्शक की सलाह के अन्य ज्योतिष पुस्तकें न पढ़ें। शुरूआती दौर में कुण्डली-निर्माण की ओर ध्यान न लगायें, बल्कि कुण्डली के विश्लेषण पर ध्यान दें। शुरूआती दौर में अपने मित्रों और रिश्तेदारों से कुण्डलियाँ मांगे, उनका विश्लेषण करें। जहाँ तक हो सके हिन्दी के साथ-साथ ज्योतिष की अंग्रेज़ी की शब्दावली को भी समझें। अगर ज्योतिष सीखने के इच्छुक लोग उपर्युक्त बिन्दुओं को ध्यान में रखेंगे, तो वे जल्दी ही इस विषय पर अच्छी पकड़
गणेश चतुर्थी पर इस शुभ मुहूर्त में करें गणपति की स्थापना और पूजा

गणेश चतुर्थी पर इस शुभ मुहूर्त में करें गणपति की स्थापना और पूजा

ज्योतिष, तंत्र मंत्र
गणेश चतुर्थी पर इस शुभ मुहूर्त में करें गणपति की स्थापना और पूजा इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर्व 25 अगस्त को है, इसकी तैयारियां पूरे जोर-शोर से चल रही हैं। गणेश चतुर्थी के दिन पूरी विधि- विधान से भगवान गणेश का पूजन करने से गणपति प्रसन्न होते हैं और भक्त की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। इस बार गणेश चतुर्थी पर पूजा का शुभ मुहूर्त क्या रहेगा इसके बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं.... शुभ मुहूर्त... सुबह 11ः06 से 1 बजकर 39 मिनट। पौराणिक प्रमाणों के अनुसार, भगवान गणेश का जन्म दिन के मध्याह्न में हुआ था, इसी कारण गणेश पूजन की यह उपरोक्त अवधि, जो कि लगभग 2 घंटे 33 मिनट की है, हर प्रकार से उत्तम है। 24 अगस्त : चंद्रमा को नहीं देखने का समय- 20ः 27 बजे से शाम 21ः02 बजे तक। 25 अगस्त : चंद्रमा को नहीं देखने का समय- 09ः 00 बजे से 21ः 41 बजे तक। पूजन-विधि :- गणेश चतुर्थी के दिन सुबह जल्दी उठकर स
इसे कहते हैं करोड़पत‌ि योग क्या आपकी हथेली में  है

इसे कहते हैं करोड़पत‌ि योग क्या आपकी हथेली में है

ज्योतिष
इस पोस्ट को पढ़ने से पहले आपको बता दे कि भारत एक ऐसा देश रहा हैं जिसका ज्योतिष शास्त्र से बहुत ही पुराना रिश्ता रहा हैं अगर आपको भी ज्योतिष शास्त्र पर विश्वास हैं तो इस पोस्ट को जरूर पढ़ें । लेकिन हम इस बात की किसी को किसी प्रकार की गैरेंटी नहीं देते न ही पाठकों को भ्र्म में रहने के लिए सलाह दे रहे ।यह एक जानकारी मात्रा है।हम आज आपको आपकी हाथ की रेखाओं के बारे में बता रहे हैं , हाथ की रेखाओं में ऐसी कई रेखाएं होती हैं जिनमें हमारी किस्मत के सारे राज छुपे होते हैं । हमारे हाथ के हथेली में कई आड़ी तिरछी रेखाएं होती हैं जिनमें हमारा पूरा भविष्य छिपा होता हैं इनके बीच मे एक रेखा ऐसी भी होती हैं जिसके बारे में कहा जाता हैं कि जिनके हाथ मे ये रेखा होती हैं उन्हें करोड़पति बनने से कोई नहीं रोक सकता हैं चलिए जानते हैं इसके बारे में । अगर आपकी हथेली में गुरु और शुक्र पर्वत उठे हुए हैं तो इसक
आपके बारे में क्या कहती है आपके हाथ की सूर्य रेखा

आपके बारे में क्या कहती है आपके हाथ की सूर्य रेखा

ज्योतिष
व्यक्ति के हाथ में अनेकों रेखाएं होती हैं, ये रेखाएं व्यक्ति के व्यक्तित्व के अलग-अलग तथ्यों को दर्शाती हैं। कोई रेखा व्यक्ति की लंबी उम्र को इंगित करती है तो कोई रेखा उसके भाग्य के बारे में जानकारी देती है। व्यक्ति के हाथ में स्थित सूर्य रेखा उसके जीवन के किस पहलू को दर्शाती है आइए आपको बताते हैं इसके बारे में..... जिस व्यक्ति के हाथ में सूर्य रेखा मणिबंध या उसके समीप से आरंभ होकर भाग्य रेखा के निकट समानान्तर अपने स्थान पर होती है वह व्यक्ति जिस काम में हाथ डालता है उसमें उसे सफलता मिलती है। ऐसा व्यक्ति प्रतिभा एवं भाग्य का मेल होने से हमेशा समृद्ध होता है। जिस व्यक्ति के हाथ की सूर्य रेखा चन्द्रक्षेत्र से आरंभ होती है तो ऐसे व्यक्ति का भाग्य चमकता तो है पर ये दूसरों की इच्छा पर निर्भर करता है। जिस व्यक्ति के हाथ की सूर्यरेखा चन्द्रक्षेत्र से आरंभ होकर अनामिका उंगली तक पहुंचती है