सामान्य ज्ञान

देश और दुनिया के इतिहास में 1 अगस्त की महत्वपूर्ण घटनाएं

देश और दुनिया के इतिहास में 1 अगस्त की महत्वपूर्ण घटनाएं

सामान्य ज्ञान
देश और दुनिया के इतिहास में 1 अगस्त कई कारणों से महत्वपूर्ण है, जिनमें से ये सभी प्रमुख हैं ... 1831: नए लंदन ब्रिज को यातायात के लिए खोल दिया गया। 1883: ग्रेट ब्रिटेन में अंतर्देशीय डाक सेवा शुरू की गयी। 1920: महात्मा गांधी ने असहयोग आंदोलन की शुरुआत की। यह भी पढ़े: ऑपरेशन हुर्रियत, NIA को मिला आतंक का कैलेंडर 1953: क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो को गिरफतार किया गया। 1957: नेशनल बुक ट्रस्ट की स्थापना हुई। 1960: पाकिस्तान की राजधानी कराची से बदलकर इस्लामाबाद कर दिया गया। 1999: बंगाली तथा अंग्रेजी लेखक निरद.सी. चौधरी का ब्रिटेन में निधन हो गया।
89वां ऑस्कर पुरस्कार

89वां ऑस्कर पुरस्कार

सामान्य ज्ञान
89वां ऑस्कर पुरस्कार अमेरिका के लॉस एंजलिस में 89वां ऑस्कर समारोह आयोजित हुआ। माहौल फिल्मों का था। बात फिल्मों की। कई चेहरे छाए रहे। कई फिल्मों को नवाजा गया। सबसे ज्‍यादा धूम रही फिल्‍म ‘ला ला लैंड’ की। चलिए जरा एक नजर विनर्स की पूरी लिस्ट पर। बेस्ट एक्टर इन लीड रोल: कैसी एफलिक कैसी को फिल्म ‘मैनचेस्टर बाय द सी’ के लिए इस पुरस्कार से नवाजा गया। बेस्ट एक्ट्रेस इन लीड रोल: एमा स्टोन क्लासिकल म्यूजिकल ड्रामा ‘ला ला लैंड’ के लिए एमा को यह पुरस्कार मिला। बेस्ट फिल्म: ‘मूनलाइट’ पहले इसके लिए ‘ला ला लैंड’ का नाम सामने आ रहा था, लेकिन बाद में पता चला कि बेस्ट फिल्म अवॉर्ड ‘मूनलाइट’ को मिला है। बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेसेज: Viola Davis फिल्म Fences में रोल करने के लिए Viola को यह अवॉर्ड मिला। बेस्ट फॉरेन फिल्म : ‘द सेल्समैन’ यह फिल्म ईरानी है। डायरेक्टर असगर फरहादी हैं। वो इससे प
चन्द्रशेखर आज़ाद से सम्बंधित 9 अनजाने एवं रोचक तथ्य

चन्द्रशेखर आज़ाद से सम्बंधित 9 अनजाने एवं रोचक तथ्य

सामान्य ज्ञान
  चन्द्रशेखर आज़ाद को कौन नहीं जानता, वे किसी परिचय के मोहताज नहीं है लेकिन उनके जीवन के बारे में जानना अपने आप में रोचक तथा ज्ञानवर्धक जानकारी है| चन्द्रशेखर आज़ाद का जन्म 23 जुलाई 1906 को मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले के भाबरा में हुआ था जबकि उनकी मृत्यु 27 फरवरी 1931 को इलाहबाद के अल्फ्रेड पार्क में हुआ था, जिसे अब चन्द्रशेखर आजाद पार्क के नाम से जाना जाता है| उनके बचपन का नाम चन्द्रशेखर सीताराम तिवारी था| उनको अपने बेखौफ अंदाज तथा अंग्रजों के हाथों कभी भी जीवित गिरफ्तार न होने की अपनी प्रतिज्ञा पर अडिग रहने के लिए पूरे विश्व में जाना जाता है|