[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: छिंदवाड़ा अप्डेट्स | News 4 India

छिंदवाड़ा अप्डेट्स

जंगल में किया दुष्‍कर्म

जंगल में किया दुष्‍कर्म

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। मोहखेड़ थाना क्षेत्र में एक नाबालिग का अपहरण कर उसे जंगल में ले जाकर दुष्‍कर्म का मामला सामने आया है। आरोपी के चंगुल से निकलने के बाद पीडि़ता ने थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है। पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि छिंदा के अम्‍मीलाल दर्शना ने 14 अप्रैल को जबरन भीमसेनढाना के जंगल ले गया और उसके साथ दुष्‍कृत्‍य किया। पीडि़ता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 363, 376, 506, 4, 6 पॉक्‍सो एक्‍ट के तहत मामला दर्ज किया है। इधर चांदामेटा थाना क्षेत्र के ग्राम मडुआ में एक नाबालिग गायब हो गई है पीडि़ता तुलसियाबाई ने बताया कि उसकी 16 वर्षीय बेटी 17 अप्रैल से घर से गायब है शिकायत के आधार पर पुलिस ने नाबालिग की तलाश शुरू की है।
बर्फ गोले न खायें

बर्फ गोले न खायें

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। शहर में बर्फ बनाने वाली फैक्ट्रियां बर्फ बनाने के लिए दूषित पानी का उपयोग कर रही हैं 20 अप्रैल को प्रशासन की टीम ने एक फैक्‍टरी पर छापा मारा और कमियां उजागर की। शहर में ऐसी ही तीन से चार बर्फ बनाने वाली फैक्ट्रियां संचालित हो रही हैं जहां पर बर्फ बनाने के लिए शुद्धता के मानकों का उपयोग नहीं हो रहा है। 20 अप्रैल को निर्मल नीर नामक बर्फ फैक्‍ट्री में छापा मारकर खाद्य सुरक्षा अधिकारी कमलेश दियावार, तहसीलदार आकांक्षा चौरसिया सहित चार लोगों की टीम ने बर्फ बनाने में लापरवाही उजागर की है यही हाल अन्‍य बर्फ बनाने वाली फैक्ट्रियों के भी हैं। बर्फ बनाने में सीधे लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य से खिलवाड़ किया जा रहा है। फिल्‍टर्ड पानी से बर्फ बनाने के हैं नियम बर्फ बनाने के लिए फिल्‍टर्ड पानी का उपयोग किया जाना चाहिए यह नियम खाद्य सुरक्षा विभाग के हैं इसके अलावा जिन कंटे
फिर भी चौरई मोहताज

फिर भी चौरई मोहताज

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। जिले के चौरई विकासखंड में करीब 15 हजार की आबादी वाले चौरई नगर में 3 से 4 दिनों के अंतराल में बमुश्किल पानी की सप्‍लाई हो पा रही है। यहां से 12 किमी दूर माचागोरा बांध में अथाह पानी भरा हुआ है। बावजूद इसके चौरई नगर के लोग पानी को मोहताल हैं दरअसल में नगरवासी नगर प्रशासन की कमजोर प्‍लानिंग का खामियाजा भुगतने को मजबूर हैं नगरपालिका जलसंकट खत्‍म करने जल आवर्धन योजना के तहत लगभग 9 करोड़ रूपए खर्च कर रही है, लेकिन प्‍लानिंग में कमी रह गई। नपा ने सीधे डेम से पानी लाने के बजाए पेंच नदी से पानी लाने का प्‍लान बना लिया। अब डेम के दीवारें खड़ी होने के बाद नपा का एनीकट भरने गेटों से पानी छूटने पर निर्भर रहना होगा। नपा ने झि‍लमिली में पेंच नदी पर एनीकट का निर्माण लगभग कर लिया है गेट लगाए बिना ही ठेकेदार गायब हो गया है। ऐसे में एनीकट अधूरा ही पड़ा हुआ है। एनीकट भरने पर
सीएम के छिन्‍दवाड़ा कलेक्‍टर को निर्देश

सीएम के छिन्‍दवाड़ा कलेक्‍टर को निर्देश

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। जिले में व्‍याप्‍त जलसंकट की स्थिति 21 अप्रैल को सीएम तक पहुंच गई है। असल में वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग में एक-एक जिलों में व्‍याप्‍त जल संकट की स्थिति पर मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कलेक्‍टरों से सीधी बात कर रही थे छिंदवाड़ा का नंबर आने के बाद कलेक्‍टर जेके जैन ने सीएम के सामने जिले की वास्‍तविक स्थिति रखी और कहा कि यहां पानी परिवहन की आवश्‍यकता पड़ना तय है सीएम के सामने ये बात आने के बाद उन्‍होंने तुरंत ही इंतजाम कराने और परिवहन करने के निर्देश कलेक्‍टर को दिए। उन्‍होंने कहा कि जहां जैसी जरूरत हो वैसी व्‍यवस्‍था बनाएं, जनता को पानी की कमी नहीं होनी चाहिए। 21 अप्रैल को वीडिया कॉन्‍फ्रेंसिंग में मुख्‍यमंत्री ने सबसे ज्‍यादा जोर भावांतर भुगतान योजना पर दिया। वीडिया कॉन्‍फ्रेंसिंग के दौरान ज्‍यादातर चर्चा इसी विषय पर हुई। सीएम ने कहा कि किसानों का भुगतान नह
सही में कैशलैस

सही में कैशलैस

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। शहर व जिले में मौजूद एटीएम में पर्याप्‍त कैश रिफिल नहीं हो रहा है। 21 अप्रैल को भी एटीएम खाली और लोग कैश के लिए परेशान होते रहे। शहर में कैश की किल्‍लत 21 अप्रैल को भी बनी रही। शहर के लगभग सभी एटीएम में दोपहर 1 बजे तक नो कैश के हालात रहे और 1 बजे के बाद कुछ मशीनों में कैश रिफिल किया गया जो एक घंटे में ही समाप्‍त हो गया। शहर में 29 एसबीआई के एटीएम सहित अन्‍य बैंकों के भी एटीएम मौजूद हैं 21 अप्रैल को लोगों को सुबह से ही कैश की किल्‍लत शुरू हो गई। 20 अप्रैल की शाम तक शहर के लगभग सभी एटीएम खाली हो गए थे 21 अप्रैल को दोपहर 1 बजे के बाद एसबीआई और अन्‍य बैंकों के कुछ चुनिंदा एटीएम में कैश डाला गया, लेकिन छोटे नोट होने के कारण एटीएम मशीनों में पर्याप्‍त कैश रिफिल नहीं किया गया है जिन मशीनों में कैश डाला गया वे भी कुछ देर में ही खाली हो गई थी। कैश के लिए जिले के
संघ और पीएम, कहां जायें

संघ और पीएम, कहां जायें

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। भाजपा के नेता और कार्यकर्ता असमंजस में पड़े हुए हैं असमंजस यह कि मोदी के सम्‍मेलनमें जाएं कि भागवत के कार्यक्रम में शामिल हों। असल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 अप्रैल को मंडला आ रहे हैं यहां वे पंचायत पदाधिकारियों के सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेंगे। वही आरएसएस चीफ मोहन भागवत का 24 अप्रैल को जिले में आगमन हो रहा है। वे सिहोरा में रामेश्‍वरम धाम में भोलेनाथ की प्रतिमा के भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे। दोनों ही आयोजनों के लिए भाजपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं को न्‍यौता दिया गया है। अब नेता और कार्यकर्ता किधर जाएं की स्थिति में हैं। मंडला में होने वाले पंचायत पदाधिकारियों के सम्‍मेलन के लिए पार्टी के साथ ही प्रशासन भी तैयारी में जुटा हुआ है सूत्रों के अनुसार जिले को पंचायत पदाधिकारियों के साथ भीड़ ले जाने का टारगेट भी मिला है। करीब 7 हजार लोगों को ले जाने
रेफर करने से पहले स्‍पेशलिस्‍ट से लेनी होगी सलाह

रेफर करने से पहले स्‍पेशलिस्‍ट से लेनी होगी सलाह

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। मेडिकल कॉलेज और जिला अस्‍पताल के बीच समझौता पत्रक साइन होने के बाद जल्‍द ही मरीजों को मेडिकल के डॉक्‍टरों से इलाज मिलना शुरू हो जाएगा। यूनिटवार डॉक्‍टरों की ड्यूटी और विशेषज्ञ चिकित्‍सकों की सेवाएं शुरू होने के बाद जिला अस्‍पताल से मरीजों को सीधे नागपुर रेफर नहीं किया जा सकेगा। ड्यूटी डॉक्‍टर हर गंभीर मरीज को रेफर करने से पहले विशेषज्ञ चिकित्‍सकों की सलाह लेगा। स्‍पेशलिस्‍ट डॉक्‍टर से बिना अनुमति के लिए मरीज को नागपुर रेफर नहीं किया जा सकेगा। अब जिला अस्‍पताल से नागपुर रेफर होने वाले मरीजों की संख्‍या में गिरावट आएगी। अभी दुर्घटना या किसी भी संवेदनशील मामले में गंभीर मरीजों को नागपुर रेफर कर दिया जाता है। ड्यूटी का नहीं बन पा रहा शेड्यूल मेडिकल कॉलेज शुरू होने तक नए डॉक्‍टरों की टीम को जिला अस्‍पताल के डॉक्‍टरों के साथ मिलकर मरीजों को अपनी सेवाएं देना
सीएम के सपनों को कैसे तोड़ रहे

सीएम के सपनों को कैसे तोड़ रहे

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। केंद्र सरकार की उज्‍जवला योजनाके एक साल पूरे होने पर शासन ने उज्‍जवला दिवस मानने के निर्देश दिए थे इन निर्देशों पर अमल करने 20 अप्रैल को जिले की सभी गैस ऐजेंसियों ने हितग्राही कैंप लगाकर गैस कनेक्‍शन का वितरण किया और हितग्राहियों को योजना के संबंध में जानकारी दी। जिले में लगाए गए कैंपों में प्रचार प्रसार के अभाव में हितग्रा‍ही पहुंच ही नहीं पाए और चंद  लोगोंकी उपस्थिति में ही शिविर संपन्‍न हो गए। 20 अप्रैलको जिले पांचों गैस वितरण कंपनियों ने अपनी एजेंसियों के माध्‍यम से हितग्राही शिविर लगाए। जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने सभी ऐजेंसियों को 100-100 गैस कनेक्‍शन बांटने के निर्देश दिए थे लेकिन 20 अप्रैल को शिविरों में लोग पहुंचे ही नहीं। विभागऔर गैस ऐजेंसियां इन शिविरों का प्रचार-प्रसार नहीं कर पाई। जिसके चलते लोग शिविरोंमें नहीं पहुंच पाए हैं। अब उज्‍जवला योज
कहां गया स्‍वच्‍छता अभियान का अलख

कहां गया स्‍वच्‍छता अभियान का अलख

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। स्‍वच्‍छ भारत अभियान के अंतर्गत घरों से निकलने वाला कचरा अलग-अलग कर इसके प्रबंधन की कार्ययोजना में नगरनिगम काम कर रहा है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से शहर के कुछ वार्डों में इस कचरे को एकत्र करने के लिए कचरा वाहन नहीं पहुंच रहे हैं। शहर के वार्ड नंबर 36 और नरसिंहपुर रोड नई आबादी क्षेत्र में पिछले एक सप्‍ताह से कचरा गाड़ी नहीं पहुंची है ऐसा ही कुछ हाल वार्ड नंबर 5 शिवनगर कॉलोनी का है। यहां पर भी समय पर कचरा वाहन नहीं पहुंच रहा है। हालांकि पिछले तीन दिनों के बाद 20 अप्रैल को कचरा वाहन पहुंचा था नियमित कचरा वाहन नहीं पहुंचने के कारण अब क्षेत्रवासियों को घरों में एकत्र कचरा बाहर फेंकने की स्थिति बन रही है। यह मिल रहा जवाब क्षेत्रवासियों ने बताया कि कचरा वाहन नहीं पहुंचने की शिकायत पर निगम कर्मचारियों द्वारा कहा जाता है कि इन दिनों शादियों का सीजन है और सामूहि
हर बार एक ही जवाब-दोषियों पर की जायेगी कार्यवाही

हर बार एक ही जवाब-दोषियों पर की जायेगी कार्यवाही

छिंदवाड़ा अप्डेट्स
छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। मेडिकल कॉलेजसे समझौता पत्रक साइन होने के बाद भी जिला अस्‍पताल में कोई सुधार नहीं हुआ है। यहां इलाज के लिए मरीजों को परेशान होते देखा जा सकता है। ट्रामा यूनिट के सामने दुर्घटना में घायल एक मरीज स्‍ट्रेचर पर सिर्फ इसीलिए तड़पता रहा, क्‍योंकि उसे ड्रेसिंग रूम में ले जाने वार्ड बॉय नहीं थे लगभग आधा घंटे बाद उसे 108 एम्‍बुलेंस के कर्मचारियों द्वारा ट्रामा यूनिट के अंदर ले जाया गया। बाइकों की भिंडत में घायल नीलेश को तीन अन्‍य घायलों के साथ 108 एम्‍बुलेंस से जिला अस्‍पताल लाया गया। दुर्घटना में घायल एक गंभीर मरीज को एम्‍बुलेंस स्‍टाफ तुरंत ड्रेसिंग रूम में ले गए, लेकिन घायल नीलेश को यूनिट के अंदर ले जाने वार्ड बॉय नहीं थे इस वजह से वह बाहर ही पड़ा तड़पता रहा। इस तरह के अमानवीय हालात जिला अस्‍पताल में रोजाना देखे जा सकते हैं। ट्रामा से गायब कर्मचारी अस्‍पताल