[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: दुनियामे हलचल – News 4 India

दुनियामे हलचल

दुनिया की मीडिया ने लिखा ,भारत ने अपना करिश्माई नेता को दिया 

दुनिया की मीडिया ने लिखा ,भारत ने अपना करिश्माई नेता को दिया 

दुनियामे हलचल
नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। भारतीय राजनीति के जननायक अटल बिहारी वाजपेयी की स्‍वीकार्यता विदेशों में भी थी। यही वजह रही कि उनकी अंतिम यात्रा में सार्क देशों सहित 20 से ज्‍यादा देशों के डेलीगेट्स दिल्‍ली पहुंचे।इन सबके बीच पड़ोसी मुल्‍क पाकिस्‍तान में लोग उनकी सबसे ज्‍यादा चर्चा कर रहे हैं। लोग कह रहे हैं कि वो बस से दोस्‍ती का पैगाम लेकर लाहौर आए थे। यहां लोग मानते हैं कि दोनों देशों के रिश्‍ते सुधारने की पहल जितनी शिद्दत से वाजपेयी ने की, वह किसी और नेता ने नहीं की। लेकिन यह सच है कि वाजपेयी की इन कोशिशों को पाकिस्‍तान ने गंभीरता से कभी नहीं लिया। पाकिस्‍तानी सांसद मुशाहिद हुसैन सैयद ने ट्वीट किया कि भारत के महानायक का जाना अपूर्णीय क्षति है। दूसरे भारतीय नेताओं ने शांति की सिर्फ बात की , लेकिन वाजपेयी के पास बातचीत आगे बढ़ाने का नजरिया और नैतिक साहस था। पत्रकार आमिर मतीन ने लिखा वाजपे
इमरान खान आज लेंगे शपथ

इमरान खान आज लेंगे शपथ

दुनियामे हलचल
इस्‍लामाबाद न्‍यूज 4 इंडिया। क्रिकेट से राजनी‍ति में आए 65 सला के इमरान खान 17 अगस्‍त को 22 वे प्रधानमंत्री चुन लिए गए। नेशनल असेंबली में हुए चुनाव में पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख इमरान ने पाकिस्‍तान मुस्लिम लीग-नवाज(पीएमएल-एन) के उम्‍मीदवारशाहबाज शरीफ को 80 वीटों से हरा दिया। इमरान को 176 और शाहबाज को 96 वोट मिले। नेशनल असेंबली की सदस्‍य संख्‍या 342 है। सरकार बनाने के लिए 172 सदस्‍यों का समर्थन आवश्‍यक है। स्‍पीकर असद कैसर ने इमरान की जीत की घो‍षणा की। बिलावल भुट्टो जरदारी के नेतृत्‍व वाली पाकिस्‍तान पीपुल्‍स पार्टी ने ऐन मौके पर खुद को मतदान से अलग कर दिया। इससे चुनाव एकतरफा और औपचारिक रह गया। शाहबाज और वरिष्‍ठ पीएमएल-एन नेता अयाज सादिक ने बिलावल को मानने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने।
स्टोर में घुसकर एक सिख की हत्या

स्टोर में घुसकर एक सिख की हत्या

दुनियामे हलचल
न्यूयॉर्क  न्‍यूज 4 इंडिया।    अमेरिका के न्यूजर्सी में दुकान में घुसकर एक सिख तरलोक सिंह की हत्या कर दी गई। अमेरिका में बीते तीन हफ्ते में ये तीसरा मामला है जब अल्पसंख्यक सिख समुदाय को निशाना बनाया गया है। तरलोक को उनके कजिन ने गुरुवार को दुकान में मृत देखा। उनके सीने चाकू भोंका गया गया था। एक न्यूज रिपोर्ट में एसेक्स काउंटी के प्रॉसिक्यूटर ने मामले को हत्या बताया। मर्डर की क्या वजह है, इस बात का अभी तक खुलासा नहीं हुआ है। तरलोक एक सीधे-सादे आदमी थे। उनकी पत्नी और बच्चे भारत में रहते हैं। तरलोक की हत्या से परिवार गहरे सदमे में है और उन्होंने स्टोर बंद कर दिया है। एक न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, तरलोक छह साल से स्टोर चला रहे थे। एक पड़ोसी ने कहा था कि आपको अमेरिका में हो रहे हमलों से डरना नहीं चाहिए। अमेरिका के सिविल राइट्स ऑर्गनाइजेशन 'सिख कोएलिशन' ने पीड़ित परिवार के प्रति अपनी संवेदना
इंटरव्यू लेने वाले ने युवती से जबर्दस्ती हाथ मिलाना चाहा,  लगा तीन लाख रुपए जुर्माना

इंटरव्यू लेने वाले ने युवती से जबर्दस्ती हाथ मिलाना चाहा, लगा तीन लाख रुपए जुर्माना

दुनियामे हलचल
स्वीडन न्‍यूज 4 इंडिया।  यहां एक कंपनी में मुस्लिम युवती का इंटरव्यू ले रहे व्यक्ति ने जबर्दस्ती उससे हाथ मिलाने की कोशिश की। युवती ने इनकार किया तो उसे नौकरी नहीं दी गई। पीड़ित की शिकायत पर अदालत ने कंपनी को भेदभाव करने का दोषी पाया और उस पर 40 हजार क्रोनर (करीब तीन लाख रुपए) का जुर्माना लगा दिया। यूरोप के कुछ देशों में हाथ मिलाने की परम्परा है, लेकिन कुछ मुस्लिम महिलाएं पुरुषों से हाथ मिलाना पसंद नहीं करतीं। इसी वजह से कई कंपनियों और सार्वजनिक निकायों में भेदभाव विरोधी नियम बनाए गए हैं। युवती ने कहा- धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं : उपासला काउंटी (स्टॉकहोम) निवासी फराह (24) ने कहा कि उसने अल्पसंख्यक समुदाय से होने के बाद भी हार नहीं मानी। वह किसी को दुख नहीं पहुंचाना चाहती थी, लेकिन अपनी धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं कर सकती थी। स्वीडन में प्रशासन से जु
5 हजार साल पुराना सामान लौटाएगा इंग्लैंड, 2003 से ब्रिटिश म्यूजियम में रखा था

5 हजार साल पुराना सामान लौटाएगा इंग्लैंड, 2003 से ब्रिटिश म्यूजियम में रखा था

दुनियामे हलचल
लंदन न्‍यूज 4 इंडिया।  इराक से लूटे गए पांच हजार साल पुराने बेशकीमती सामान को ब्रिटिश म्यूजियम लौटाने की तैयारी कर रहा है। इस संबंध में ब्रिटेन ने इराक सरकार को जानकारी दी है। 17 august को म्यूजियम में एक कार्यक्रम के दौरान इराक के प्रतिनिधियों को सभी वस्तुएं लौटा दी जाएंगी। यह सामान लंदन के एक डीलर से 2003 में बरामद हुआ था। पुलिस ने आठ तरह की वस्तुएं जब्त  की थी। इसके एक साल बाद भी डीलर इन पर अपना स्वामित्व साबित नहीं कर पाया। ऐसे में इन्हें म्यूजियम में रखवा दिया गया। म्यूजियम मैनेजमेंट के मुताबिक, इनमें से तीन वस्तुओं पर सुमेरियन भाषा में कुछ लिखा हुआ था। इससे सामान का संबंध दक्षिणी इराक के प्राचीन शहर गिरसू के इनिन्नू मंदिर से पाया गया। इस शहर का नाम अब टेलो है। डीलर के पास मिले सामान में मिट्‌टी के तीन शंकु भी मिले। इन पर भी शिलालेख मिले, जिनका संबंध इराक के प्राचीन देव निनगिरस
नकदी का संकट इतना कि डेबिट-क्रेडिट कार्ड से दान ले रहे चर्च

नकदी का संकट इतना कि डेबिट-क्रेडिट कार्ड से दान ले रहे चर्च

दुनियामे हलचल
कराकस  न्‍यूज 4 इंडिया।  वेनेजुएला में मंदी का दौर जारी है। महंगाई दर 10 लाख फीसदी तक पहुंचने का अनुमान है। बदहाल अर्थव्यवस्था और नकदी के संकट को देखते हुए चर्च अब डेबिट या क्रेडिट कार्ड से भी दान स्वीकार करने लगे हैं। पहले चर्च कैश में ही दान स्वीकार करते थे। वेनेजुएला में लोगों को औसतन डेढ़ डॉलर (करीब 105 रुपए) तनख्वाह मिल रही है। लोगों के बैंक खातों में पैसा नहीं है। ब्लैक मार्केट में चालीस लाख बोलीवर्स की कीमत एक डॉलर (70 रुपए) से भी कम है। 58 साल की एक अकाउंटेंट ग्लेडिस एंजेल कहती हैं, "मेरे पास बस के किराए जितना कैश बचा है।" लोगों को आशीर्वाद देने से पहले एक चर्च के फादर अलीरियो सुआरेज अपील करते हैं कि दान देने के लिए पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीनों का इस्तेमाल करें। वे कहते हैं, "पेमेंट टर्मिनल हमें बचा नहीं रहे, बल्कि स्थिति को थोड़ा हल्का जरूर कर रहे हैं। इन मशीनों से लोग दिल खोल
अमेरिकी ने एफबी पर लिखा- शायद अल कायदा को पैसे दे रहा हूं

अमेरिकी ने एफबी पर लिखा- शायद अल कायदा को पैसे दे रहा हूं

दुनियामे हलचल
न्यूयॉर्क   न्‍यूज 4 इंडिया।  अमेरिका पर भारतीय मूल के रेस्तरां मालिक पर नस्लीय टिप्पणी करने का मामला सामने आया है। रेस्तरां में आए एक ग्राहक और उसके परिवार का स्वागत भारतीय रीति-रिवाज से किया गया था। खाना खाने के बाद उसने रेस्तरां का फोटो क्लिक किया था। बाद में उसने फोटो को टैग करते हुए फेसबुक पर लिखा कि शायद मैं अल कायदा को पैसा दे रहा हूं। ऐशलैंड में किंग्स डिनर के नाम से रेस्तरां चलाने वाले ताज सरदार ने बताया, "यह कमेंट पढ़ने के बाद काफी दुख हुआ। मैं समझ नहीं पाया कि क्या वह गंभीर था? सरदार ने बताया कि वह 2010 से ऐशलैंड में रह रहे हैं। उम्मीद है कि उस व्यक्ति के साथी मुझे बाहर निकालने की कोशिश नहीं करेंगे।" प्रशासन से मिला सपोर्ट : फेसबुक पर नस्लीय टिप्पणी होने के बाद ताज सरदार को उनके दोस्तों का समर्थन मिल रहा है। वहीं, ऐशलैंड के मेयर स्टीव गिलमोर ने तीन सिटी कमिश्नर के साथ रेस
पत्नी की शिकायत पर हुई थी जेल, छूटने के बाद  प्लेन चुराकर लौटा और घर पर क्रैश कर दिया

पत्नी की शिकायत पर हुई थी जेल, छूटने के बाद प्लेन चुराकर लौटा और घर पर क्रैश कर दिया

दुनियामे हलचल
वॉशिंगटन  न्‍यूज 4 इंडिया।   अमेरिका के ऊटा में डुएन यूड नाम के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी को जान से मारने के लिए घर में हवाई जहाज क्रैश करा दिया। घटना में उसकी मौत हो गई। पत्नी और बेटा घर के अंदर थे, लेकिन उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा। पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने पत्नी से मारपीट की थी। पुलिस ने उसे घरेलू हिंसा के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था। इससे दुखी होकर डुएन ने पत्नी से बदला लेने की योजना बनाई और एक विमान चोरी करके अपने ही घर में क्रैश करा दिया। पुलिस सार्जेंट नोएमी सैंडोवाल ने बताया कि डुएन प्रोफेशनल पायलट था। वह वैनकॉन नाम की कंस्ट्रक्शन कंपनी के लिए विमान उड़ाता था। सोमवार को गिरफ्तारी के थोड़ी देर बाद उसे जमानत पर छोड़ा गया तो वह कार से सीधा कंपनी पहुंच गया। यहां से उसने सेसना 525 जेट विमान उड़ाया और स्थानीय समयानुसार देर रात 2:30 बजे अपने घर में क्रैश करा दिया। पड़ोसियों म
ट्रम्प के खिलाफ एकजुट हुए अमेरिका के 100 अखबार

ट्रम्प के खिलाफ एकजुट हुए अमेरिका के 100 अखबार

दुनियामे हलचल
वॉशिंगटन न्‍यूज 4 इंडिया।  अमेरिका के 100 से ज्यादा अखबार एकजुट होकर गुरुवार (16 अगस्त) को राष्ट्रपति ट्रम्प के खिलाफ लेख प्रकाशित करेंगे। इनमें ट्रम्प की मीडिया पर हमले की नीति का विरोध किया जाएगा। अभियान की शुरुआत बोस्टन ग्लोब ने की। इसके कर्मचारियों ने देशभर में बाकी अखबारों से संपर्क करके ट्रम्प विरोधी लेख लिखने की अपील की। इसमें कहा गया कि प्रेस की आजादी के लिए हो रही इस लड़ाई का अंत होना चाहिए। ग्लोब के डिप्टी एडिटोरियल पेज एडिटर मरजोरी प्रिटचार्ड ने न्यूज एजेंसी को बताया कि इस अभियान में हॉस्टन क्रॉनिकल, मियामी हेराल्ड और डेनेवर पोस्ट समेत कई छोटे साप्ताहिक अखबार भी शामिल हैं। इनमें से हर अखबार ट्रम्प विरोधी आर्टिकल प्रकाशित करने को तैयार है। इस अभियान को अमेरिकन सोसायटी ऑफ न्यूज एडिटर्स ने भी समर्थन दिया है। मीडिया पर लगातार हमले कर रहे ट्रम्प : ट्रम्प उन अखबारों और पत्रकारो
3200 किमी नाव चलाई, रिकॉर्ड बनाने में घटा सात किलो वजन

3200 किमी नाव चलाई, रिकॉर्ड बनाने में घटा सात किलो वजन

दुनियामे हलचल
न्यूयॉर्क न्‍यूज 4 इंडिया।  अमेरिका में एक टीचर ब्रायस कार्लसन ने सिर्फ 38 दिन छह घंटे नाव चलाकर कनाडा से इंग्लैंड तक 3200 किलोमीटर की दूरी तय की। यह सफर तय करने में उनका वजन करीब सात किलो कम हो गया। उन्हें पता भी नहीं था कि उन्होंने सबसे कम वक्त में यह दूरी तय करने का रिकॉर्ड तोड़ दिया। पहले यह रिकॉर्ड एक नेवी पायलट के नाम था। उन्होंने यह फासला तय करने में 53 दिन लगाए थे। 37 साल के कार्लसन अब नॉर्थ अटलांटिक पार करने वाले पहले अमेरिकी बन गए हैं। वे कोई पेशेवर नाविक नहीं हैं। ब्रायस के मुताबिक, वे हर दिन 20 फीट की नाव को सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक चलाते थे। इस बीच वे कुछ वक्त खाना खाने, हाथों को आराम देने और नक्शे पर अपनी जगह तय करने के लिए देते थे। खराब मौसम में कहीं ठहरना पड़े तो वक्त गुजारने के लिए उन्होंने अपने पास कुछ किताबें रखी थीं। चक्रवात से भी हुआ सामना : ब्रायस ने बताया