[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: ‘ब्रिज’ कोर्स असमंजस | News 4 India

‘ब्रिज’ कोर्स असमंजस

मुंबई  न्‍यूज 4 इंडिया।   नैशनल मेडिकल कमिशन (एनएमसी) बिल में राष्ट्रीय स्तर पर ‘ब्रिज कोर्स’ को अनिवार्य न करने के फैसले को लेकर होम्योपैथी डॉक्टरों में नाराजगी है। वहीं, महाराष्ट्र में संचालित होने वाले ‘ब्रिज कोर्स’ को लेकर असमंजस की स्थिति है। बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने पहले से ही ब्रिज कोर्स की शुरुआत राज्य में की है। इसके तहत होम्योपैथी, आयुर्वेद के डॉक्टर एक साल का कोर्स करके मॉडर्न मेडिसिन में प्रैक्टिस कर सकते हैं।

राज्य आयुष निदेशालय से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘फिलहाल, हम ब्रिज कोर्स चला रहे हैं, लेकिन आने वाले समय में क्या होगा, इस बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता। ‘ब्रिज कोर्स’ को मान्यता मिलने के बाद केंद्र सरकार से इस बारे में बात करके ही स्पष्ट रूप से कुछ कहा जा सकता है। राज्य के ग्रामीण इलाकों में डॉक्टरों की बहुत कमी है, जिसे पूरा करने के लिए आयुष डॉक्टरों की भूमिका महत्वपूर्ण है।’

डॉक्टरों ने खत्म किया अनशन: पिछले 2 दिन से एनएमसी में ब्रिज कोर्स को शामिल कराने की मांग को लेकर अनशन पर बैठे डॉक्टरों ने बुधवार शाम अनशन खत्म कर दिया। ऑल इंडिया होम्योपैथी डॉक्टर्स फेडरेशन के समन्वयक डॉ. प्रकाश राणे ने कहा, ‘बुधवार को मांग लेकर हम स्वास्थ्य सचिव संजय देशमुख से मिले। देशमुख ने हमारी सभी मांगों को पूरा करने और इस बारे में हमें मुख्यमंत्री से मिलवाने का आश्वसन दिया। इसीलिए हमने अनशन खत्म कर दिया। अगर हामारी मांग पूरी नहीं होती हैं, तो हम एक बार फिर से अनशन करेंगे।’ बता दें कि एनएमसी बिल में ब्रिज कोर्स को शामिल करने और इसमें होम्योपैथी डॉक्टरों का पंजीकरण करवाने को लेकर हजारों डॉ. आजाद मैदान में अनशन कर रहे थे। बुधवार को डॉक्टरों ने जेजे अस्पताल से आजाद मैदान तक रैली भी निकाली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *