[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: आम आदमी इनसे क्‍या सीखेंगे | News 4 India

आम आदमी इनसे क्‍या सीखेंगे

जोधपुर न्‍यूज 4 इंडिया। जोधपुर के कांकाणी गांव में 20 साल पहले दो काले हिरणों की हत्‍या के मामले में अभिनेता सलामान खान 5 अप्रैल को दोषी करार दिए गए। सीजेएम कोर्ट ने उन्‍हें 5 साल जेल और 10 हजार रूपए जुर्माने की सजा सुनाई है। सैफ अलीखान, तब्‍बू, सोनाली बेंद्रे, नीलम और स्‍थानीय निवासी दुष्‍यंत सिंह को संदेह का लाभ मिला। सभी बरी कर दिए गए। तीन साल से ज्‍यादा सजा होने के चलते सलमान को ट्रायल कोर्ट से जमानतनहीं मिली। उन्‍होंने सेशन कोर्ट में अर्जी लगाई है। उस पर 6 अप्रैल को सुनवाई होगी। सलमान ने रोते हुए जोधपुर जेल में ही गुजारी। वहीं वे कैदी नंबर 106 हैं उन्‍हें आसाराम के पड़ोसी बैरक नंबर 2 में रखा गया है। फिल्‍म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान सलमान और उनके साथियों ने 1 अक्‍टूबर 1998 की रात कांकाणी गांव में दो काले हिरणों का शिकार किया था आर्म्‍स एक्‍ट की वजह से यह मामला जुलाई 2012 तक लंबित रहा।

घोड़ा फार्म हाउस मामला- 10 अप्रैल 2006

सीजेएम बृजेंद्र कुमार जैन ने कहा कि सलमान अभिनय के पेशे में हैं वे युवाओं को प्रेरणा स्‍त्रोत होते हैं लोग अनुसरण करते हैं भले ही एक भी चश्‍मदीद गवाह पेश नहीं हुआ, पर परिस्थिति जन्‍य साक्ष्‍यों को देखते हुए राहत देना न्‍यायोचित नहीं है।

28 मार्च 2006 को फैसला सुरक्षित रखा गया था।

वन्‍य जीव संरक्षण अधिनियम की धारा 51 में दोषी।

5 साल साधारण कारावास और 25 हजार का जुर्माना।

अन्‍य आरोपी दुष्‍यंत सिंह, तुलाजी आंग्रे उर्फ बाल आंग्रे और प्रताप सिंह संदेह के लाभ से बरी हुए।

कोर्ट का ऑब्‍जर्वेशन सलमान ने अपने शौक-मौज व बड़प्‍पन साबित करने के लिए अपराध किया।संपूर्ण देश में वन्‍यजीव लुप्‍त होने के कगार पर हैं।

प्रकरण के समस्‍त तथ्‍यों, परिस्थितियों, अभियुक्‍त के चरित्र, उसके विरूद्ध अन्‍य प्रकरण लंबित होने के मद्देनजर मुल्जिम के प्रति नरमी उचित नहीं है।

हाईकोर्ट ने सलमान को बरी कर दिया।

5 अप्रैल 2018 कांकाणी मामला

सीजेएम देवकुमार खत्री-अभियुक्‍त अभिनेता हैं जिसका आमजन भी अनुसरण करते हैं इसके बावजूद उन्‍होंने दो कृष्‍ण मृर्गों का शिकार किया। तथ्‍यों, परिस्थितियों व अपराध की गंभीरता को देखते हुए राहत देना न्‍यायोचित नहीं है।

28 मार्च 2018 को फैसला सु‍रक्षित रखा गया था।

वन्‍य जीव संरक्षण अधिनियम की धारा 9/51 में दोषी।

5 साल की सजा और 10 हजार रूपए का जुर्माना।

अन्‍य आरोपी सैफअलीखान, नीलम, सोनाली बेंद्रे, तब्‍बू और दुष्‍यंत को संदेह का लाभ देते हुए बरी किया।

कोर्ट का ऑब्‍जर्वेशन दो हिरणों का गोली मारकार शिकार किया। वर्तमान में वन्‍य जीव लुप्‍त हो रहे हैं। और अवैध शिकार की घटनाएं बढ़ रही हैं।

प्रकरण के तथ्‍यों, परिस्थितियों हालात व अपराध की अत्‍यंत गंभीरता को देखते हुए मुल्जिम के प्रति नरमी उचित नहीं होगा। इसलिए 5 साल कैद की सजा।

सलमान अब ऊपरी अदालत में अपील करेंगे।

आज जमानत नहीं तो बढ़ सकती हैं..

सलमान ने सेशंस कोर्ट में जमानत अर्जी दायर की है। 6 अप्रैलको सुबह 10.30 बजे इस पर सुनवाई होगी। अगर जमानत मंजूर हुई तो सलमान जेल से निकल सकते हैं लेकिन सेशन कोर्ट ने जमानत खारिज कर दी तो उन्‍हें हाईकोर्ट जाना पड़ेगा। लेकिन ऐसी सूरत में वीकेंड की वजह से उन्‍हें कम से कम दो-तीन दिन और जेल में रहना पड़ सकता है।

ाोभोपाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *