[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: योगी सरकार रिपोर्ट दो | News 4 India

योगी सरकार रिपोर्ट दो

लखनऊ न्‍यूज 4 इंडिया। यूपी की योगी सरकार की उन्‍नाव सामूहिक दुष्‍कर्म मामले में मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस मामले में स्‍वत: संज्ञान लेते हुए यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगी है मुख्‍य न्‍यायाधीश डीके भोंसले की अध्‍यक्षता वाली खंडपीठ ने पीडि़ता के पत्र का भी संज्ञान लिया है। कोर्ट ने सरकार के एडवोकेट जनरल को निर्देश दिया है कि वे वे 12 अप्रैल को सुनवाई के दौरान व्‍यक्तिगत रूप से मौजूद रहें। यदि पीडि़ता के पिता के शव का दाह संस्‍कार नहीं किया गया है तो उसे सुरक्षित रखा जाए। उधर, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सीबीआई जांच की जनहित याचिका को स्‍वीकार किया है अगले सप्‍ताह सुनवाई होगी। सीएम योगी ने पहले एसआईटी जांच का आदेश दिया, फिर 11 अप्रैल को एसआईटी टीम पीडि़ता के गांव पहुंची। देर रात टीम के प्रमुख एडीजी राजीव कृष्‍णा ने सीएम योगी को पहली रिपोर्ट सौंप दी। इसमें पुलिस की लापरवाही की बात कही जा रही है।

देर रात एसएसपी के घर पहुंचे विधायक

उन्‍नाव सामूहिक दुष्‍कर्म केस को लेकर आरोपों में घिरे भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर 11 अप्रैल को देर रात करीब 11.45 बजे लखनऊ में एसएसपी के बंगले पर पहुंच गए। समर्थकों के लंबे-चौड़े काफिले के साथ आए सेंगर ने कहा कि वह सरेंडर करने नहीं आए हैं मीडिया ने उन्‍हें लगातार भगोड़ा बताया जा रहा था इसलिए आया। सेंगर उनके साथ सपा के विधान पार्षद अक्षय प्रताप गोपाल और बसपा के विधायक अनिल सिंह भी थे विधायक के खिलाफ अभी कोई एफआईआर नहीं है। ऐसे में पुलिस को समक्ष में नहीं आया कि तमाम विवादों के बावजूद उन्‍हें गिरफ्तार किस आधार पर करें। भीड़ ज्‍यादा होती देख एसएसपी ने बंगले के गेट बंद करवा दिए कुछ देर बाद सेंगर वापस लौट गए। विधायकों के गुर्गों ने कई मीडियाकर्मियों से मारपीट भी की। इससे पहले दुष्‍कर्म पीडि़ता के पिता की मौत के मामले की जांच कर रही एसआईटी ने अपनी अंतरिम रिपोर्ट मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को सौंप दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *