[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: एक दिन में ही हो गया काम | News 4 India

एक दिन में ही हो गया काम

छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया।नगर में आशा कार्यकर्ताओं की भर्ती का मामला अचानक सुर्खियों में आ गया है यहां पदस्‍थ बीएमओ डॉ. एके सेन ने चार साल तक कार्यकर्ताओं की भर्ती नहीं की। इधर ट्रांसफर आदेश आते ही पुरानी तिथी में भर्ती के आदेश जारी कर दिए। इस भर्ती प्रक्रिया पर अब शिकवा शिकायतों का दौर शुरू हो गया। कुछ आवेदकों ने जारी आदेश को लेकर लेनदेन का आरोप भी लगाया है।

नगर में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की योजनाओं के तहत 8 आशा कार्यकर्ताओंकी नियुक्ति प्रक्रियाचार साल से लंबित थी इस पद  के लिए आवेदन पत्र जमा करने वाली महिलाएं हर माह बीएमओ कार्यालय में जकार नियुक्ति सूची प्रकाशितकरने की मांग उठा रही थी लेकिन बीएमओ डॉ. एके सेन आवेदकों को टरकाते रहे1 भर्ती प्रक्रिया में हो रही लेटलतीफी और धांधली को लेकर आवेदकों ने जनप्रतिनिधियों और कलेक्‍टर से भी शिकायत की। जनप्रतिनिधियों ने आवेदकों के आक्रोश को देखते हुए बीएमओ को कई बार सूची जारी करने के निर्देश भी दिए लेकिन भर्ती का मामला फाइलों तक ही सीमित रहा।

बीएमओ सेन के खिलाफ लगातार मिल रही शिकायतों के बाद शासन के आदेश पर दो अप्रैल को नए बीएमओ डॉ. नितिन बाम्‍हने ने चौरई सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में पदभार ग्रहण किया। इसके बाद वे अवकाश पर चले गए। इस बची पूर्व बीएमओ डॉ. एके सैन ने आशा कार्यकर्ताओं की भर्ती सूची जारी कर दी।

नगर के वार्ड 10 में निवासी मनोज कुशवाहा ने बताया कि उनकी पत्‍नीका भी सूची में नाम था, लेकिन उनसे डिमांड की गई। डिमांड के पूरा नहीं होने पर उनकी पत्‍नी का नाम काटकर अन्‍य आवेदक का चयन कर दिया गया। इस मामले में कलेक्‍टर को शिकायत की गई है।

बीएमओ चौरई, डॉ. नितिन बाम्‍हने का कहना है कि आशा कार्यकर्ता भर्ती प्रक्रिया और जारी सूची की मुझे कोई जानकारी नहीं है चार्ज मिलने के बाद इस मामले की पड़ताल की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *