[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: अब इन कलेक्‍टरों के साथ पीएम करेंगे….. – News 4 India

अब इन कलेक्‍टरों के साथ पीएम करेंगे…..

भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। नीति आयोग ने हाल ही में मप्र के जिन आठ जिलों की पिछड़े जिलों के रूप में रैंकिंग की थी, उन्‍हीं जिलों के कलेक्‍टरों की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंडला में मीटिंग लेने जा रहे हैं वे 24 अप्रैल को जबलपुर पहुंचकर मंडला जाएंगे। पहली बार ऐसा होगा, जब मोदी मप्र के कलेक्‍टरों के साथ बैठक करेंगे। बताया जा रहा है कि मोदी इन जिलों के कलेक्‍टरों से पूछेंगे कि नीति आयेग की रिपोर्ट आने के बाद उन्‍होंने पिछड़ा जिलों के डवलपमेंट का क्‍या रोडमैप तैयार किया है अचानक तय हुई मोदी की इस मीटिंग को लेकर शासन भी संशय में है कि क्‍या करें। फिलहाल कलेक्‍टरों से तैयारी करने के लिए कह दिया गया है जिन आठ जिलों के कलेक्‍टरों को बुलाया गया है उसमें विदिशा, खंडवा, राजगढ़, छतरपुर दमोह, गुना, बड़वानी, और सिंगरौली शामिल हैं। हैरानी की बात यह है‍ कि विदिशा भी पिछड़े जिलों में शामिल है। जिस संसदीय सीट से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी वर्तमान केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज और वर्तमान मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सांसद रह चुके हैं। प्रधानमंत्री कार्यालय से इसकी जानकारी ले ली गई है। प्रधानमंत्री की इसी मीटिंग के चलते प्रशासनिक सर्जरी के भी टलने के आसार बन गए हैं हालांकि मंत्रालय के सूत्र 14 अप्रैल की अंबेडकर जयंती और 18 अप्रैल की परशुराम जयंती को भी कारण बता रहे हैं।

आठ जिलों में चार जिलों के कलेक्‍टर 50 की उम्र के पार हो चुके हैं विदिशा के अनिल सुचारी 51 वर्ष के, दमोह के श्रीनिवास शर्मा 55 साल, गुना के राजेश कुमार जैन 57 साल तथा छतरपुर के कलेक्‍टर रमेश भंडारी तो इसी साल रिटायर होने वाले हैं। यहां प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्षमता का आंकलन करने के बाद ही 20-50 के फार्मूले को लागू किया था यानी या तो अफसर की उम्र 50 साल हो या उसे काम करते हुए लगातार 20 वर्ष हो गए हों। उनकी स्‍क्रूटनी की जाए और जिनकी एसीआर लगातार दस वर्ष खराब रही हो उसे फोर्स रिटायर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *