[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: मोदी पर गंदी बात | News 4 India

मोदी पर गंदी बात

नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। लोकसभा चुनाव में बनारस सीट पर हुए चुनावी महासमर पर बनी डाक्‍यूमेंट्री फिल्‍म बैटल फॉर बनारस आखिरकार हाईकोर्ट के फैसले के बाद फिल्‍म सर्टिफिकेशन अपीलेट ट्रिब्‍यूनल से पास हो गई है फिल्‍म में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बारे में की गई अपमानजनक टिप्‍पणियों को ट्रिब्‍यूनल ने यह कहते हुए पास कर दिया कि उन्‍हें देश के दर्शकों के तजुर्बे और विवेक पर पूरा भरोसा है। फिल्‍म बनने की शुरूआत 2014 में हुई थी और अगस्‍त 2015 में यह बनकर तैयार हो गई। 44 दिनों तक बनारस के चुनाव अभियान के भाषणों और प्रचारों को रिकॉर्ड किया गया। फिर बैटल फॉर बनारस लंबी लड़ाई से गुजरी। सेंसर बोर्ड ने अक्‍टूबर 2015 में इसे खारिज कर दिया। बोर्ड का कहना था कि उम्‍मीदवार चुनाव के दौरान ऐसी-ऐसी बातें कहते हैं कि जो बेहत आपत्तिजनक होती हैं सेंसर बोर्ड के फैसले को फिल्‍म सर्टिफिकेट अपीलेट ट्रिब्‍यूनल ने भी जायज ठहराया था लेकिन जनवरी 2018 में दिल्‍ली हाईकोर्ट ने बोर्ड के तर्कों को नहीं माना और अपील ट्रिब्‍यूनल से फिल्‍म पर नए सिरे से गौर करने का निर्देश खारिज करने का कोई रास्‍ता नहीं रह गया था आखिरकार उसने फिल्‍म को यूए सर्टिफिकेट से पास कर दिया।

सेंसर बोर्ड को फिल्‍म में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आप नेता अरविंद केजरीवाल पर किए गए कुछ कमेंट पर आपत्त्‍ि थी इसी बारे में जस्टिस मनमोहन सरीन की अध्‍यक्षता में ट्रिब्‍यूनल ने सफाई मांगी है। डॉक्‍यूमेंट्री के एक दृश्‍य में एक किन्‍नर मोदीके बारेमें कह रहा है मोदी जहाज से आया, क्‍या करके चला गया भीड़ बटोर के ले कर आया, क्‍या किया कुछ नहीं किया। फिल्‍म के डायरेक्‍टर अपीलकर्ता कमल स्‍वरूप के वकील ने ट्रिब्‍यूनल को इस पर कहा कि किन्‍नर की बात डॉक्‍यूमेंट्री में जस का तस इस्‍तेमाल किया गया।बिना कोई अपनी राय जोड़े रीप्रोड्यूस किया गया है अपनी तरफ से कुछ नहीं जोड़ा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *