पद गया पर बंगला नहीं

लखनऊ न्‍यूज 4 इंडिया। उप्रके छह पूर्व मुख्‍यमंत्रियों को सरकारी बंगला खाली करना पड़ेगा। उन्‍हें आजीवन बंगले की सुविधा देने वाला कानून 7 मई को  सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पद छोड़ने के बाद मुख्‍यमंत्री और आम आदमी में कोई फर्क नहीं रहता। ऐसे में उसे बंगले की विशेष सुविधा क्‍यों दी जाए। अभी पूर्व सीएम एनडी तिवारी, राजनाथ सिंह मुलायम सिंह, अखिलेश यादव, कल्‍याण सिंह, और मायावती को बंगला मिला हुआ है।

मप्र सरकार ने पूर्व मुख्‍यमंत्रियों को कैबिनेट मंत्री का दर्जा देकर बंगले आवंटित कर रखे हैं इनमें अधिकांश बंगले1 से 15एकड़में फैले हैं।

दिग्विजय सिंह 6070 वर्ग मी. 3000 रूपए किराया

उमा भारती 4046 वर्ग मी. 3000 रूपए किराया।

कैलाश जोशी 4046 वर्ग मी. 3000 रूपए किराया।

बाबूलाल गौर 4046 वर्ग मी. 3000 रूपए किराया।

दिवंगत सीएम सुदरलाल पटवा के नाम पर भी बंगला अलॉट है जो उनके भतीजे संस्‍कृति पर्यटन मंत्री सुरेंद्र पटवा के पास है।

Related posts

Leave a Comment