[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: कहा फाँसी दिला दो, तो जिद नहीं करूंगी – News 4 India

कहा फाँसी दिला दो, तो जिद नहीं करूंगी

श्रीगंगानगर न्‍यूज 4 इंडिया। राजस्‍थान में श्रीगंगानगर जिला मुख्‍यालय से 150 किमी दूर घड़साना शहर। पिदले सप्‍ताह यहां महज 3 साल की मासूम से ज्‍यादती हुई। हालांकि आरोपी बुधाराम को गिरफ्तार कर लिया गया है आरोपी को कोर्ट से जल्‍द से जल्‍द फांसी की सजा दिलाने की मांग हो रही है। इसी बीच एक बड़ी पहल जिले में घड़साना के थानाधिाकरी विक्रम चौहान की पत्‍नी मधु व बेटी निधिका ने की है। इस तर‍ह की घटनाओं से व्‍यथित निधिका ने अपने थानाधिकारी पापा को चिट्ठी लिखी है उसने लिखा है कि पापा ऐसे सबूत जुटाओ कि गलत काम करने वाले को फांसी ही हो, इसके बदले में मैं आपसे कभी कुछ नहीं मांगूगी। वही उनकी पत्‍नी ने थानाधिकारी को संकल्‍प दिलवाया है कि आरोपी को फांसी ही होनी चाहिए। सबूत जुटाने के लिए भले ही जेब से रूपए लग जाएं, लेकिन जांच में कोई कमी नहीं रहनी चाहिए।

मुध ने अपने पति से कहा- कितने ही रविवार घर नहीं आना पड़े, मत आइए। घर मैं संभाल लूंगी। आप बस मामले के एक-एक बिंदू की जांच-पड़ताल कर सबूत खोजिए। मुध श्रीगंगानगर के पास मोहनपुरा गांव में अध्‍यापिका हैं जबकि निधिका एक प्राइवेट स्‍कूल में 12वीं कक्षा की छात्रा हैं थानाधिकारी विक्रमसिंह चौहान ने बताया कि उनका परिवार चाहता है कि वे इस मामले में जल्‍द से जल्‍द चालान पेश करें, ताकि ट्रायल शुरू हो सके। वे भी ऐसा ही चाहते हैं और इस दिशा में तेजी से काम कर रहे हैं।

बेटी की चिट्ठी

प्रिय पापा

आपके थाना क्षेत्र घड़साना में पिछले बुधवार तीन साल की बच्‍ची से दुष्‍कर्म हुआ। मैंने सुना था कि जम्‍मू के कठुआ में भी 8 साल की बच्‍ची से दुष्‍कर्म हुआ है। इसके बाद से मम्‍मी कुछ डरी हुई हैं डर की वजह यह भी है कि मैं यहां श्रीगंगानगर में उनके साथ अकेलीरहती हैं और आप हमसे दूर रहकर वहां ड्यूटी करते हैं मम्‍मी अब मुझे अपनी आंखों से ज्‍यादा देर दूर नहीं करती हैं कहीं जाती हूं तो मुझसे खूब सवाल करती हैं पापा, मेरे मन में एक सवाल है कि ये लोग आखिर ऐसा गलत काम करते क्‍यों हैं। इन सबको आखिरी समाधान क्‍या है और इन लोगोंकी गलती की सजा मेरी जैसी हजारों-लाखों बेटियां क्‍यों भुगतें। बच्‍ची से जो गलत काम हुआ है उस आरोपी को कोर्ट में फांसी ही होनी चाहिए। इसके लिए आप हर सबूत जुटाना। मैं वादा करती हूं कि आप इसमें सफल रहे तो मैं आपका हर कहा मानूंगी। आपकी कोई बात नहीं टालूंगी। और न ही किसी बात की जिद करूंगी। आप एक ही बात मन में रखना, आरोपी को फांसी।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *