[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: 20 हजार करोड़ रूपए की एडिशनल राशि | News 4 India

20 हजार करोड़ रूपए की एडिशनल राशि

नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। नवंबर 2015 से शुरू हुई उज्‍जवल डिकॉम्‍स एश्‍योरेंस योजना(उदय) के परिणाम दिखने लगे हैं पावर मिनिस्‍ट्री की साल 2017-18 की रिपोर्ट बताती है कि उदय की वजह से डिस्‍कॉम्‍स के एडिशनल रेवेन्‍यू में लगभग 100 फीसदी की वृद्धि हुई, जबकि बिजली चोरी में एक फीसदी की कमी आई है। मिनिस्‍ट्री की रिपोर्ट के अनुसार, फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में टैरिफ बढ़ने की वजह से 19 राज्‍यों की डिस्‍कॉम्‍स को 20,427 करोड़ रूपए का एडिशनल रेवेन्‍यू मिला, जबकि साल 2016-17 में 10,009 करोड़ रूपए मिला था यानी डिस्‍कॉम्‍स के एडिशनल रेवेन्‍यू में 100 फीसदी की वृद्धि हुई है। उदय स्‍कीम के तहत केंद्र सरकार का फोकस राज्‍यों में बिजली चोरी को कम करना था इसके परिणाम भी देखने को मिलने लगे हैं मिनिस्‍ट्री की रिपोर्ट बताती है कि साल 2016 में उदय में शामिल राज्‍यों में एटीएंडसी लॉस 21 फीसदी तक पहुंच गया था जो 2017 में घटकर 20 फीसदी तक पहुंच गया।

हिमाचल प्रदेश कर्नाटक, गुजरात, त्रिपुरा, उत्‍तराखंड और गोवा में 2017-18 में एटीएंडसी लॉस का टारगेट हासिल कर लिया, जबकि हरियाणा, राजस्‍थान, बिहार, मणिपुर, छत्‍तीसगढ़, महाराष्‍ट्र, झारखंड और पंजाब  में एटीएंडसी लॉस कम हुआ है।

डिस्‍कॉम्‍स द्वारा अपने फाइनेंसियल लॉस में कमी लाने को भी बड़ा अचीवमेंट माना गया है। 2016-17 में राज्‍योंको 49,383 करोड़ रूपए का फाइनेंशियल लॉस हुआ, लेकिन साल 2017-18 में राज्‍यों को 37,117 करोड़ रूपए का लॉस हुआ। यानी कि फाइनेंशियल लॉस में लगभग 33 फीसदी की कमी आई है।

31 राज्‍य शामिल

पावर मिनिस्‍ट्री की सालाना रिपोर्ट के अनुसार सभी 31 राज्‍यों और केंद्र शासित राज्‍यों ने उदय स्‍कीम के तहत केंद्र के साथ एमओयू साइन कर लिया है। इनमें 16 राज्‍यों ने ऑपरेशनल एवं फाइनेंशियल इंप्रूवमेंट दोनों के लिए स्‍कीम ज्‍वाइन की है, जबकि 15 राज्‍यों ने केवल ऑपरेशनल एफिशिएंसी बढ़ाने के लिए स्‍कीम ज्‍वाइन की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *