[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: फिर आई डॉक्‍टरों की लापरवाही सामने, कटा गला लेकर तड़पता रहा मरीज | News 4 India

फिर आई डॉक्‍टरों की लापरवाही सामने, कटा गला लेकर तड़पता रहा मरीज

छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। जिला अस्‍पताल में मेडिकल कॉलेज के विशेषज्ञ चिकित्‍सकों की पदस्‍थापना के बाद भी मरीजों को इलाज के लिए परेशान होना पड़ रहा है। 16 मई को देर रात एक ऐसा ही मामला सामने आया जब गले में चाकू लगे गहरे घाव की वजह से गंभीर मरीज को बिना सर्जरी के नागपुर रेफर कर दिया गया। असल में मरीज की सर्जरी करने न तो जिला अस्‍पताल के डॉक्‍टर आए और न ही मेडिकल कॉलेज के विशेषज्ञ आए। आखिरकार लगभग तीन घंटे के इंतजार के बाद परिजन मरीज को नागपुर ले गए। बताया जा रहा है कि कोटलबर्री निवासी विजय पिता रामदास उईके 16 मई की रात नोनीबर्रा एक विवाह समारोह में शामिल होने गया था बारात में नाचते समय विजय का कुछ युवकों से विवाद हो गया। युवकों ने विजय पर चाकू से हमला कर दिया। इस हमले में विजय के गले में गहरा घाव लगा था। घायल का नागपुर में इलाज चल रहा है चांद पुलिस का कहना है कि घायल के बयान न होने की वजह से प्रकरण दर्ज नहीं किया गया है।

जिला अस्‍पताल के सीएम और मेडिकल कॉलेज डीन के बीच अप्रैल माह में एमओयू साइन किया गया है जिसमें स्‍पष्‍ट कि मेडिकल कॉलेज के विशेषज्ञ चिकित्‍सकों को इमरजेंसी के समय कॉल कर ड्यूटी पर बुलाया जा सकता है। समझौते के अनुसार 16 मई की रात मेडिकल कॉलेज के विशेषा सर्जन को बुलाया गया था, लेकिन वे नहीं आए। वहीं जिला अस्‍पताल के सर्जन डॉक्‍टर छुट्टी पर थे।

आरएमओ, डॉ. सुशील दुबे का कहना है कि इमरजेंसी कॉल ड्यूटी डॉक्‍टर के न आने पर ईएनटी विशेषज्ञ को बुलाकर मरीज का इलाज कराया गया था मरीज की हालत खराब होने पर उसे नागपुर रेफर किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *