[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: ताजमहल का नाम बदलकर राम महल या कृष्ण महल – News 4 India

ताजमहल का नाम बदलकर राम महल या कृष्ण महल

बलिया न्‍यूज 4 इंडिया।  यहां के बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह एक बार फिर सुर्ख़ियों में हैं। इस बार उन्होंने विवादित बयान देते हुए कहा है कि ताजमहल का नाम बदलकर राम महल या कृष्ण महल या फिर राष्ट्रभक्त महल कर देना चाहिए। यह विवादित बयान उन्होंने रविवार रात बलिया में एक कार्यक्रम में यह बयान दिया है।

मुस्लिम शासकों के नाम पर बने रोड और स्मारकों के नाम बदले जाए

-विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कहा भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित करने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद भारत का विभाजन हिन्दू मुसलमान संस्कृति के आधार पर ही हुआ था। तभी से भारत हिन्दू राष्ट्र है जबकि पाकिस्तान मुस्लिम राष्ट्र बना था।
-उन्होंने कहा कि मैं व्यक्तिगत रूप से मांग करता हूं कि हुमायूँ, अकबर और बाबर के नाम पर कोई भी रोड नहीं होना चाहिए। विधायक से पहले मैं संघ का स्वयं सेवक हूं। जिस तरह से मुग़लसराय का नाम बदल कर दीन दयाल उपाध्याय हो गया वैसे ही राष्ट्रभक्तों की मांग पर रोड और स्मारकों का नाम भी बदलना चाहिए।
-उन्होंने कहा कि मुसलमानों में भी राष्ट्रभक्त थे। अब्दुल कलाम, वीर अब्दुल हमीद आदि है जिनके नाम पर रोड के नाम किये जा सकते हैं। लेकिन जो पाकिस्तान परस्त मुसलमान हैं उनके नाम पर कोई काम नहीं होना चाहिए।

ताजमहल का नाम राम महल या राष्ट्रभक्त महल होना चाहिए

-यही नहीं विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि ताजमहल का नाम बदलकर राम महल या कृष्ण महल या फिर मेरा बस चले तो राष्ट्रभक्त महल कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुग़ल काल में बनी किसी बिल्डिंग को धवस्त करने के पक्ष में नहीं हूं क्योंकि वह भारत के संसाधनों का ही प्रयोग कर वह बिल्डिंग बनायीं गयी है लेकिन किसी ने बिल्डिंग बनायीं तो क्या उस मिस्त्री के नाम पर हम उसका नाम रखे। यह नहीं होना चाहिए।

पहले भी दे चुके हैं कई विवादित बयान

अभी बीते 5 जून को विधायक सुरेंद्र सिंह ने प्रदेश के अफसरों को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि अधिकारियों से अच्छा चरित्र वेश्याओं का होता है, वो पैसे लेकर कम से कम काम तो करती हैं और स्टेज पे नाचती हैं। पर ये अधिकारी तो पैसा लेकर भी आपका काम करेंगे की नहीं इसकी कोई गारंटी नहीं है।

सपा की मानसिकता के हैं कर्मचारी

– यही नहीं उन्होंने कहा था कि अब देश और प्रदेश में मोदी और योगी जी की सरकार है अब मानसिकता में बदलाव लाना चाहिए। अब साफ नियत से काम होना चाहिए। लेकिन अधिकारी अभी भी सपा की मानसिकता से काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *