[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: हर्रई हॉस्पिटल भगवान भरोसे – News 4 India

हर्रई हॉस्पिटल भगवान भरोसे

छिंदवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। जिले के ग्रामीण अंचलों में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं ठप्‍प हैं और चिकित्‍सक अक्‍सर अस्‍पताल से नदारद रहते हैं। हर्रई अस्‍पताल के संबंध में की गई एक शिकायत के आद अचानक 10 जून की रात निरीक्षण करने पहुंचे तहसीलदार को अस्‍पताल में कोई भी चिकित्‍सक नहीं मिला। यहां तक की बीएमओ का पता लगाने तहसीलदार ने कर्मचारियों को उनके घर भी भेजा, लेकिन वे वहां पर भी नहीं मिले। जिले के दूरस्‍थ अंचल में बने सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्रों में भी स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं भगवान भरोसे ही चल रही हैं यहां चिकित्‍सक पदस्‍थ तो हैं, लेकिन लोगों को इन चिकित्‍सकों का फायदा नहीं मिल रहा है।

जिला स्‍तर पर की गई शिकायत के बाद हर्रई अस्‍पताल में जांच करने पहुंचे तहसीलदार देवानंद गजभिए को हर्रई सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में कोई भी चिकित्‍सक नहीं मिला। इस दौरान बीएमओ डॉ. वैभव का मोबाइल भी बंद था। तहसीलदार ने बीएमओ को बुलवाने के लिए कर्मचारियों को उनके आवास पर भेजा तो वहां पर भी ताला लटका हुआ था अस्‍पताल में केवल दो नर्सें और वार्डबाय ही मौजूद थे निरीक्षण के बाद तहसीलदार ने पंचनामा तैयार किया है, जिसे उच्‍चाधिकारियों को भेजा गया है।

तहसीलदार हर्रई, देवानंद गजभिए का कहना है कि शिकायत पर हर्रई अस्‍पताल की जांच के बाद वहां जो भी कमियां पाई गईं हैं, उसका मौके पर ही पंचनामा बनाकर उच्‍च अधिकारियों को भेज दिया गया है आगमी कार्रवाई वही करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *