[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: कमलनाथ की मांग ,सरकार जारी करें श्वेत पत्र  – News 4 India

कमलनाथ की मांग ,सरकार जारी करें श्वेत पत्र 

भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। मप्र कांग्रेस अध्‍यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश पर बढ़ते कर्ज को लेकर सवाल उठाते हुए कहा है कि कर्ज को लेकर प्रदेश की स्थिति दिनोंदिन भयावह होती जा रही है। इससे प्रदेश का हर नागरिक चिंतित है सरकार का पूरा खजाना खाली पड़ा है। अगली सरकार के लिए खजाने में कुछ नहीं है सरकार निरंतर कर्ज पर कर्ज लेती जा रही है। वर्तमान वित्‍तीय वर्ष के प्रारंभिक महीनों में ही तीन हजार करोड़ रूपयों का कर्ज ले चुकी सरकार ने फिर एक हजार करोड़ का कर्ज लिया है प्रदेश कर्ज के बोझ तले डूबता जा रहा है। हर व्‍यक्ति पर औसतन कर्ज की राशि बढ़ती जा रह है। कमलनाथ ने कहा कि चुनावी वर्ष में चुनाव जीतने के लिए शिवराज सरकार दिन-प्रतिदिन नई घोषणाएं करती जा रही है। और उन घोषणाओं के नाम पर कर्ज पर कर्ज लेती जा रही है। शिवराज की ब्रांडिंग, प्रचार-प्रसार, अभियानों, यात्राओं, सम्‍मेलनों में सरकार करोड़ों रूपया, चुनावी वर्ष में लुटा रही है। जिससे प्रदेश पर कर्ज का बोझ बढ़ता जा रहा है। लगता है शिवराज सरकार प्रदेश को देश में सर्वाधिक कर्ज वाले प्रदेश का तमगा भी दिलाने में लगी है।

श्री नाथ ने कहा कि मैंने पांच माह पूर्व भी बढ़ते कर्ज को लेकर चिंता जताते हुए शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर ‘श्‍वेतपत्र’ जारी करने की मांग की थी आज उसी मांग को वापस दोहरा रहा हूं।31 मार्च 2003 में प्रदेश पर कुल 20 हजार 147 करोड़ 34 लाख रूपये का कर्ज था जो आज बढ़कर 1 लाख 0 हजार करोड़ रूपए से अधिक की कगार पर है कमलनाथ ने कहा कि सरकार स्‍पष्‍ट करे कि प्रदेश पर कुल कितना कर्ज है प्रदेश के हर नागरिक पर कितना औसतन कर्ज है कर्ज की राशि का कहां उपयोग व खर्च हुआ है। कुल कितने ब्‍याज का भार प्रदेश पर वर्तमान में है। बढ़ते कर्ज को देखते हुए फिजूलखर्ची रोकने के लिए क्‍या उपाय सरकार द्वारा अभी तक किये गये हैं श्री नाथ ने कहा कि प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन सवालोंका जवाब देने हुए प्रदेश पर बढ़ते कर्ज को लेकर शीघ्र श्‍वेत पत्र जारी करें ताकि सारी वास्‍तविकता स्‍पष्‍ट हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *