घाटी में जल्‍द सुधरेंगे हालात  

नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। जम्‍मू-कश्‍मीर में 20 जून से राज्‍यपाल शासन लागू हो गया। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सूरीनाम यात्रा के दौरान सुबह 6 बजे ही इस बाबत राज्‍यपाल एनएन वोहरा की सिफारिश को मंजूरी दे दी। राज्‍य के इतिहास में आठवीं बार राज्‍यपाल शासन लगा है जून 2008 में राज्‍यपाल बने वोहरा 10 साल में चौथी बार राज्‍य की कमान संभाल रहे हैं राज्‍यपाल शासन की अधिसूचना जारी होते ही वोहरा ने प्रशासन, पुलिस और सेना के वरिष्‍ठ अधिकारियों के साथ बैठकें कीं। मुख्‍य सचिव बीबी व्‍यास के साथ चर्चा कर समयबद्ध तरीके से निपटाने के लिए कुछ बड़े कार्य चिन्ह्ति किए। इसी बीच छत्‍तीसगढ़ के एसीएस बीवीआर सुब्रमण्‍यन का ट्रांसफर जम्‍मू कश्‍मीर कर दिया गया। आंतरिक मामलों के माहिर सुब्रमण्‍यन 2004 से 2008 तक तत्‍कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के निजी सचिव भी रह चुके हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता वाली कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने उनके तबादले को मंजूरी दी। उन्‍हें व्‍यास की जगह मुख्‍य सचिव बनाया जाएगा। व्‍यास का कार्यकाल पिछले साल नवंबर में खत्‍म हो गया था, लेकिन तत्‍कालीन महबूबा सरकार ने उन्‍हें तीन-तीन माह के दो एक्‍सटेंशन दिए थे व्‍यास वोहरा के सलाहकार नियुक्‍त किए जा सकते हैं 19 जून को तीन साल पुराना गठबंधन तोड़कर भाजपा ने पीडीपी सरकार गिरा दी थी।

हुड्डा बन सकते हैं राज्‍यपाल

राज्‍यपाल एनएन वोहरा का कार्यकाल 25 जून को खत्‍म हो रहा है। अमरनाथ यात्रा पूरी होने तक उन्‍हें एक्‍सटेंशन दी जाएगी। इसके बाद पूर्व ले. जन. दीपेंद्र सिंह हुड्डा राज्‍यपाल बनाए जा सकते हैं। उन्‍होंने नगरोटा स्थित व्‍हाइट नाइट(16कोर) के जनरल आफिसर कमांडिंग व उत्‍तरी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ भी रहे हैं सर्जिकल स्‍ट्राइक के समय इस पद पर थे राज्‍यपाल के लिए लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा, मेजर जनरल जीडी बख्‍शी लेफ्टिनेंट जनरल अता हसनैन, जनरल बिक्रमजीत सिंह और दिनेश्‍वर शर्मा के नाम पर विचार चल रहा है।

Related posts

Leave a Comment