सब कुछ ऑनलाइन आपका फायदा 

नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। देश के  प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने अपनी मन की बात की 45वीं संस्‍करण पर बात की। उन्‍होंने कहा कि अब सब कुछ ऑनलाइन  होगा और इससे आपको ही फायदा होगा। देश को डि‍जिटल बनाने वे काफी प्रयास कर रहे हैं वह चाहते हैं कि हर युवा वर्ग इस ओर अग्रसर हो और आगे बढ़कर इन गैजेट्स का उपयोग कर खुद को ठगा हुआ महसूस न समझे वह जागरूक हो और उसे हर योजनाओं की जानकारी हो और उनसे वह लाभ प्राप्‍त कर सके।  उन्‍होंने इस बार योग, खेल और डॉ. श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी, 550वें प्रकाश पर्व आदि के बारे में चर्चा की।मोदी ने कहा कि योग अब राष्‍ट्र, जाति और धर्म की सीमाओं को तोड़कर सबको एक कर रहा है।

मोदी ने जीएसटी का एक बार फिर देश के लिए महत्‍वपूर्ण सुधार बताया है जीएसटी से बिचौलिए की भूमिका खत्‍म हो गई है। जीएसटी एक साल पूरा होने वाला है वन नेशन, वन टैक्‍स देश के लोगोंका सपना था वो हकीकत में बदल चुका है। जीएसटी ईमानदारी की जीत है। अब रिफंड से लेकर रिटर्न तक सब कुछ ऑनलाइन हो रहा है। जीएसटी काउंसिल की अब तक 27 बैठक हो चुकी हैं। काउंसिल में कई विचारधाराओं के लोग हैं जो देश और लोगों के हित में फैसले लेते हैं पीएम ने अफगानिस्‍तान-भारत के बीच हुए टेस्‍ट मैच का भी जिक्र किया। बोले, भारतीय टीम ने ट्राफी लेते समय अफगानिस्‍तान टीम को बुलाया और साथ में फोटो खिंचाई। खिलाड़ी भावना क्‍या होती है, इसमें हम ये सीख सकते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने जनसंघ के संस्‍थापक श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए कहा कि 23 जून को देश के सपूत डॉ. श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्‍यतिथि थी उनका जीवन कई क्षेत्रों से जुड़ा रहा है। वह सिर्फ 33 साल की उम्र में ही यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर बने। भारत की औद्योगिक तरक्‍की की नींव रखने के लिए भी मुखर्जी को हमेशा याद रखा जाएगा। वह भारत की अखंडता के पुरजोर समर्थक थे उनके प्रयासों की बदौलत ही बंगाल का एक हिस्‍सा आज भारत का अखंड हिस्‍सा बन गया है 52 साल की उम्र में ही उन्‍होंने देश की एकता और अखंडता के लिए अपनी जान गंवा दी।

मोदी जी ने कहा कि बेंगलुरू में कॉरपोरेट, आईटी इंजीनियर्स ने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए एक समृद्धि ट्रस्‍ट बनाया है। ये लोग किसानों से जुड़ते गए, योजनाएं बनाते गए और किसानों की आय बढ़ानेके लिए सफल प्रयास कर रहे हैं। कई गांवों में बेटियां कॉमन सर्विस सेंटर के माध्‍यम से बुजुर्गों की पेंशन से लेकर पासपोर्ट बनवा रही हैं छत्‍तीसगढ़ की एक बहन सीताफल इकट्ठा कर उसक आइसक्रीम बनाकर व्‍यवसाय करती है झारखंड में अंजन प्रकाश की तरह देश के लाखों युवा गांवों में जाकर सस्‍ती दवाइयां मुहैया करवा रहे हैं तमिलनाडु, पंजाब, गोवा में स्‍कूली छात्र स्‍कूल की लैब में वेस्‍ट मैनेजमेंट पर काम कर रहे हैं।

मोदी ने कहा कि योग करने में पूरी दुनिया एकजुट नजर आई सऊदी अरब में कई आसनों का डेमोस्‍ट्रेशन तो महिलाओं ने किया। लोगों ने इसे बहुत बड़ा उत्‍सव बना दिया। अहमदाबाद में 750 दिव्‍यांग भाई-बहनों ने योग करके विश्‍व कीर्तिमान बना डाला। हमारे सेना के जवानों ने हिमालय की चोटी पर, नदी के अंदर भी योग किया।

1 जुलाई को डॉक्‍टर्स डे के तौर पर मनाया जाता है पीएम ने इस मौके पर देश के डॉक्‍टरों को बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि हमारी संस्‍कृति ही मां को देवी मानने की है मां हमें जन्‍म देती है और कई बार डॉक्‍टर पुनर्जनम देते हैं और वह भगवान का दूसरा रूप होते हैं डॉक्‍टर की भूमिका सिर्फ इलाज करने तक नहीं होती, वे परिवार का हिस्‍सा होते हैं।

Related posts

One Thought to “सब कुछ ऑनलाइन आपका फायदा 

  1. Vnita kasnia Punjab

    “जय श्री राम”
    राम नाम की महिमा इतनी महान कि इसकी महिमा का गुनगान करने के लिये एक जन्म कम है |

    इसकी महिमा में सभी देवी, देवताओ ने कहा है, कि राम का नाम राम से महान है |

    भगवान विष्णु ने सभी अवतारो में राम अवतार को सर्वश्रेष्ठ माना है |

    राम का नाम मनुष्यों को सभी सुखों को प्रदान करने वाला कल्पवृक्ष है।

    भगवान शंकर जी भी हमेशा राम नाम का जाप करते है।

    पवन पुत्र हनुमान निरंतर राम नाम का जाप करते है और रामभक्त कहलाते है।

    डाकू रत्नाकर ने राम नाम का उल्टा(मरा-मरा) जाप किया और जाप के प्रभाव से महर्षि वाल्मीकि के नाम से जाने जाते है।

    श्रीरामचरितमानस के रचियता तुलसीदास ने वालकांड में राम नाम की महिमा का विस्तार पूर्वक वर्णन किया है।

    राम नाम का जाप कर, इसके प्रभाव को जानकर,सभी महान लोगों ने अपनी-अपनी बुद्धि अनुसार राम नाम की महिमा का वर्णन किया है।

    राम नाम के दो अक्षर में, सब शांति समाई है। लिखो रे भाई राम राम, यह बडा ही सुखदाई है।

    हमारा उद्धेष्य इस बेव साईट से बस इतना है की हम सभी राम नाम लिख कर उस ईश्वर से नाता जोडें जिसने हमें ये मानव जीवन दिया है हर कर्तव्य से बड़कर ये हमारा पहला कर्तव्य बनता है कि हम उस ईष्वर को हमेषा याद रखें जिसने हमें ये जीवन देकर इस दुनियाँ में भेजा है।

    और सोचें कि हमारे जन्म का कारण क्या है।

    क्यौं हमें ये मानव जीवन मिला है।

    जब हम ये सवाल अपने आप से करते है तो हमें अन्तरात्मा से कुछ जवाव मिलते है।

    कि हम कुछ अच्छा करें।

    अपने लिऐ, अपने परिवार के लिऐ, अपने समाज के लिऐ अच्छा करें।

    कुछ भी अच्छा करने से पहले शुरूआत हम अपने आप से करें।

    ये तभी संभव है जब हम अपनी आत्म शक्ति को बढ़ायेंगे।

    अपनी आत्मषक्ति बढ़ाने का बहुत ही आसान तरीका है एकाग्राचित हो कर प्रभु श्रीराम के नाम का लेखन व जाप करें ।

    हम जितना एकाग्रचित होकर प्रभु का नाम लिखेंगे उतनी ही हमारी आत्मशक्ति जाग्रित होगी।

    और हमारे अन्दर अद्धभुत शक्ति का संचार होगा।

    इस अद्धभुत शक्ति से हम संसार की हर बुराई पर विजय प्राप्त कर सकतें हैं।

    भगवान् श्री राम का नाम लिखना कोई कठिन कार्य नही है।

    और ना ही राम नाम लिखने के कोई नियम है प्रभु नाम लिखना बहुत ही आसान और सरल है प्रभु का नाम कभी भी, किसी भी समय ओर किसी भी जगह लिखा जा सकता है लोग इसे कापी में लिखा करते है हमने तो बस सुविधा जनक बनाते हुऐ।

    राम नाम लेखन कि सुविधा आन-लाईन कि है। इससे हम कभी भी प्रभु का नाम लिख सकते है।

    इस आधुनिक युग में हम प्रभु के नाम को भुलाना नही चाहते हैं। इसी दिषा में यह हमारी शुरूआत है नियम से रोज प्रभु श्री राम का नाम लिखें तथा हमारे प्रयास को सार्थकता प्रदान करें।

Leave a Comment