स्वाइन फ्लू के आतंक से जिले में दूसरी मौत

 

स्वाइन फ्लू के आतंक से जिले में दूसरी मौत

छिन्दवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। जिले में स्वाइन फ्लू से तीन दिन में दूसरी मौत हो गई। शनिवार को बिछुआ निवासी 43 वर्षीय राजेंद्र सोनी की नागपुर के निजी चिकित्सालय में स्वाइन फ्लू के लंबे उपचार के बाद मौत हुई। इससे पूर्व परासिया विकासखंड के रावनवड़ा जरगल निवासी 35 वर्षीय मुकेश यादव की 6 सिंतबर को नागपुर में ही स्वाइल फ्लू से मौत हुई। जिले में स्वाइन फ्लू एवं डेंगू के संदिग्ध मरीज प्रतिदिन सामने आ रहे हैं, लेकिन यहां सभी की निगेटिव रिपोर्ट बताई जा रही है, जबकि डेंगू से भी जिले में एक मौत की पुष्टि हो गई है। जिला चिकित्सालय के स्वाइन फ्लू वार्ड में तीन स्वाइन फ्लू संदिग्ध का उपचार किया जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को पुराना बैल बाजार छिंदवाड़ा का मरीज भर्ती किया गया था। शनिवार सुबह इसरा उमरिया का 70 वर्षीय वृद्ध एवं शाम को इकलहरा से युवती को गंभीर अवस्था में भर्ती किया गया।

चार डेंगू संदिग्ध की रिपोर्ट निगेटिव, तीन संदिग्ध फिर भर्ती

चिकित्सालय में शुक्रवार को चार डेंगू संदिग्ध भर्ती किए गए थे, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव बताई गई है। वहीं शनिवार को तीन नए संदिग्धों को भर्ती कर सेम्पल जांच के लिए गए हैं। सभी की जांच रिपोर्ट रविवार को दी जाएगी।

एक माह से चल रहा था इलाज

बिछुआ निवासी राजेंद्र पिता मनोहर राव सोनी का 10 अगस्त से नागपुर के निजी चिकित्सालय में उपचार चल रहा था। शनिवार दोपहर राजेंद्र सोनी की स्वाइन फ्लू से मौत की खबर बिछुआवासी शोक में डूब गए। परिजनों से प्राप्त जानकारी के अनुसार अंतिम संस्कार रविवार सुबह 10 बजे बिछुआ मोक्षधाम में किया जाएगा।

संक्रमण से बचाव ही उपाय

स्वाइन फ्लू संक्रमित व्यक्ति का खांसना, छींकना एवं ऐसी वस्तु को स्पर्श करना जो दूसरे के संपर्क में आता है। उन्हें भी संक्रमित कर सकता है। इसलिए संक्रमण से बचाव करने जागरूकता होना जरूरी है। वहीं ऐसे संक्रमित व्यक्ति से पर्याप्त दूरी बनाए रखनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *