आयोजक स्वयं दर्शक दीर्धा में बैठे और कार्यक्रम की चर्चा हर जवा पर

छिन्दवाड़ा न्यूज 4 इंडिया। शिक्षको के सम्मान के कार्यक्रम का भव्य आयोजन डेनियलसन डिग्री कॉलेज में विधायक चौधरी चन्द्रभान द्वारा आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम को सफलता पूर्वक संचालित करने के लिए विधायक चौधरी ने अत्यंत श्रम किया। और लगातार इस कार्यक्रम को सफल बनाने में जुटे रहे। कार्यक्रम की विशेषता यह थी कि शिक्षको के सम्मान का इतना बड़ा कार्यक्रम जिसमें इतनी तादाद में शिक्षक उपस्थित हुए शायद अपने किस्म का पूरे प्रदेश में पहला और अनोखा कार्यक्रम रहा। एक अनुमान के मुताबिक कार्यक्रम में लगभग 5 से 10 हजार शिक्षको सहित आमंत्रित गणों ने उपस्थिति दी। कार्यक्रम की विशेष बात यह थी कि कार्यक्रम को संचालित करने वाले विधायक चौधरी लगभग पूरे कार्यक्रम के दौरान मंच पर नहीं बैठे। कार्यक्रम में उन्होंने सभी शिक्षको पर पुष्प वर्षा की। कार्यक्रम के दौरान आमांत्रित अतिथियों में छिन्दवाड़ा जिले के कलेक्टर जे के जैन, डीआईजी पाठक, पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी, एस डी एम राजेश शाही निगम आयुक्त इच्छित गढ़पाले सहित विभिन्न शिक्षाविद शिक्षा अधिकारी, समाज सेवी एवं युवा नेतागण उपस्थित थे। कार्यक्रम के सफल संचालन में विधायक चौधरी चन्द्रभान के साथ महापौर कांता योगेश सदारंग, निगम अध्यक्ष धर्मेन्द्र मिगलानी, बाबा पोपली भाजपा अध्यक्ष परमार सहित विभिन्न नेताओं ने उपस्थिति एवं सहयोग किया। अपने उद्बोधन में कलेक्टर ने शिक्षको की भूमिका की सराहना की और विधायक के इस कार्यक्रम के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। डी आई जी पाठक ने कहा कि शिक्षको को समाज के निर्माण में अपनी भूमिका सुनिश्चित  करनी चाहिए। साथ ही उन्होंने अगाह किया कि यदि विद्यार्थी कमजोर है या नकारात्मक कृत्य करता है तो इसके लिए शिक्षक  को पूर्णतः दोषी नहीं माना जाना चाहिए। पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने कार्यक्रम के दौरान शिक्षको को संबोधित करते हुए कहा कि आज शिक्षा का व्यवसायिकरण हो गया है। आज शिक्षा को पुनः नैतिक और सामाजिक मूल्यों की रक्षा के लिए प्रयास करना चाहिए। कार्यक्रम के दौरान विधायक चौधरी चन्द्रभान ने कहा कि मैं शिक्षको का ऋणी हूं। कार्यक्रम की भव्यता को देखते हुए सभी उपस्थित गण अचंभित थे। उल्लेखनीय बात यह है कि कार्यक्रम में एक बार में लगभग 5 हजार शिक्षको को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का कुशल मंच संचालन विनोद तिवारी ने किया। कार्यक्रम में राष्ट्रपति पुरूस्कार प्राप्त शिक्षक विजय आनंद दुबे भी उपस्थित थे। उन्हें भी सम्मानित किया गया। साथ ही विगत् वर्षों में राष्ट्रपति और राज्यपाल पुरूस्कार प्राप्त शिक्षक भी कार्यक्रम में सम्मानित हुए। कार्यक्रम की समाप्ति पर भोज का आयोजन भी किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *