सिवनी को मिला प्रदेश में प्रथम ई-हॉस्पिटल का गौरव

सिवनी न्यूज 4 इंडिया। इंदिरा गांधी जिला चिकित्सालय सिवनी को डिजिटल इंडिया के तहत मध्य्प्रदेश का पहला ई-अस्पताल होने का गौरव मिला है। कलेक्टर गोपालचनंद्र डाड ने सोमवार को काउंटर से एक मरीज की पर्ची बनवाकर इसका शुभांरभ किया। मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के उद्देश्य से भारत सरकार ने ई-ई-हॉस्पिटल की शुरूआत की है। इससे मरीज का इलेक्ट्रानिक मेडिकल डाटा रिकॉर्ड में दर्ज रहेगा। मरीज देश के किसी भी ई-हास्पिटल में उपचार कराने जाएगा तो मरीजों को अलग पर्ची नहीं कटानी पड़ेगी। उसके रिकॉर्ड के आधार पर सही उपचार होगा।

यह है व्यवस्था- ई-हॉस्पिटल से पर्ची लेने पर दो नंबर मिलेंगे। एक यूएचआईडी नम्बर और दूसरा इलक्ट्रोनिक मेडिकल रिसोर्ट है। एक नम्बर उस ई-हॉस्पिटल के लिए यूनिक होगा। दूसरा नम्बर पूरे देश में उपयोग होगा। जैसे ही कोई मरीज अपना नाम ई-हैल्थ आईडिटेंडी फिकेशन नम्बर देगा। उसका रिकॉर्ड चिकित्सक के सामने आ जाएगा। इससे उसका उपचार आसानी से होगा।

चुनिंदा  अस्पतालों में है यह सुविधा- यह सुविधा एम्स व आर्मी के अस्पतालों में है। अब जिला अस्पताल का मरीज यदि उपचार के लिए एम्स जाएगा तो डॉक्टर मरीज के ऑनलाइन रिकार्ड से समझ जाएगा कि केस हिस्ट्र क्या हैं जिला अस्पताल के डॉक्टर, पूरा स्टॉफ  देश  के सरकारी अस्पतालों से कनेक्ट हो चुके हैं। डिजिटल इंडिया का यह प्रोग्राम है। भारत के सभी सरकारी अस्पताल में किया जाना है। सिवनी का अस्पताल प्रदेश में पहला अस्पताल है, जहां इसकी शुरूआत की गई है। इस मौके पर अपर कलेक्टर वीपी द्विवेदी, एसडीएम तरूण विश्वकर्मा, सीएमएचओ डॉक्टर आरके श्रीवास्तव आदि उपस्थित रहे। उल्लेखनीय है कि तत्कालीन कलेक्टर व मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य धनराजू एस ने इसके लिए पहल की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *