हालांकि उनका बचाव प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी और संजय श्रीवास्तव ने किया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने पत्थलगड़ी की शुरुआत की है। ग्राम पंचायत संवैधानिक प्रावधान है। शास्त्री के बयान पर कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता खुद नहीं जानते कि पत्थलगड़ी क्या है?

त्रिवेदी ने कहा छत्तीसगढ़ आने से पहले शास्त्री को केंद्र में मंत्री विष्णुदेव साय और अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंदकुमार साय से पत्थलगड़ी के बारे में पूछ लेना चाहिए था।

वहीं शास्‍त्री ने कहा कि राहुल गांधी भ्रम फैलाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जादू तोड़ना चाहते हैं। शास्त्री ने सवाल किया कि राहुल गांधी भारत बचाओ आंदोलन चलाकर किससे देश को बचाना चाहते हैं। पहले तो भारत के प्रधानमंत्री को विश्व मंच पर मान्यता भी नहीं मिलती थी। आज कितना भी शक्तिशाली देश हो, उसका मुखिया प्रोटोकॉल तोड़कर मोदी का स्वागत करने आते हैं।

शास्त्री ने कहा कि जेएनयू में भारत विरोधी आंदोलन में राहुल उनके साथ खड़े थे। पिछले दिनों उन्होंने संविधान बचाओ आंदोलन किया था। हमारा संविधान दुनिया का सबसे अच्छा संविधान है, लेकिन वो भ्रम पैदा करने के लिए ये सब करते हैं।