सीनियर अफसरों की बैठक में शिवराज ने क्या कहा कि हंस पड़े अधिकारी

भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। मंत्रियों और सीनियर अफसरों की बैठक में उस समय सभी हंसने लगे जब वाणिज्यिक कर और परिवहन विभाग की ओर से मुख्‍यमंत्री को बताया गया कि रेवेन्‍यू कलेक्‍शन बढ़ गया। जबकि वित्‍त विभाग का मत था कि प्रदेश में रेवेन्‍यू की स्थिति ठीक नहीं है। इस पर मुख्‍यमंत्री शिवराज‍ सिंह चौहान को कहना पड़ा कि एक मनोज(वित्‍त विभाग के प्रमुख मनोज गोविल) कह रहे हैं कि पैसा नहीं हैं दूसरे मनोज(वाणिज्यिक कर विभाग के अपर मुख्‍य सचिव) जीएसटी से 18 फीसदी रेवेन्‍यू बढ़ने की बात कर रहे हैं। परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव मलय श्रीवास्‍तव भी यही कह रहे हैं कि रेवेन्‍यू बढ़ गया। सही तो बताओ भई। मुख्‍यमंत्री के यह कहने पर सभी हंसने लगे। मंत्रालय में हुई इस मीटिंग में मुख्‍यमंत्री ने सभी को स्‍पष्‍ट कर दिया कि संबल योजना में जिस भी जरूरत मंद को राशि बांटी जा रही है, यह खैरात नहीं है। मेरी फिलॉसिफी कहती है कि यह उनके हक का पैसा है इसलिए अमीरों से टैक्‍स के रूप में वसूलकर गरीबों को पैसा दिया जा रहा है। इसलिए सभी योजनाओं पर पूरा ध्‍यान रखें। कोशिश करें कि केंद्र सरकार के स्‍तर पर लंबित योजनाओं और प्रस्‍तावों को जल्‍द मंजूर हो। उन्‍होंने 15 जुलाई से पौधरोपण अभियान चलाने के निर्देश दिए।

पीडीएस से दो किलो खड़ी दाल देने पर विचार- सरकारी गोदामोंमें 40 लाख टन खड़ी दाल रखी हुई है। बैठक में जब यह बात उठी तो कृषि विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. राजेश राजौरा ने मुख्‍यमंत्री को बताया कि पोषण अभियान के तहत खड़ी दाल पीडीएस के जरिए वितरित होती है। तो भारत सरकार सब्सिडी देगी, लेकिन इतनी ही सब्सिडी राज्‍य को भी देनी होगी। तब पीडीएस से 21 रूपए खड़ी दाल बेची जा सकेगी। इस पर सीएम ने कहा कि राज्‍य देने को तैयार है। बात की जाए।

मुख्‍यमंत्री ने बैठक में कहा कि जन कल्‍याणकारी योजनाओंका पैसा जो केंद्र में रूका हुआ है, उसे भी जल्‍द से जल्‍द लाओ। कृषि विभाग के अधिकारी ने बताया कि 2000 करोड़ रूपए केंद्र से लेने हैं। बिजली महकमे ने कहा कि 270 करोड़ रूपए लेने हैं। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि दिल्‍ली जाना पड़े तो जाएं और पूरी ताकत लगाकर रूका हुआ पैसा लाएं। प्रदेश के दो-तीन केंद्रीय मंत्री हैं उनके पास भी जाओ। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्‍य सचिव इकबाल सिंह बैस ने बताया कि वे मनरेगा का पूरा पैसा ला चुके हैं।

Related posts

Leave a Comment