इंडियन डिफेंस स्टेट सर्विस, टेलीकम्युनिकेशन सर्विस, पीएंडटी (पोस्ट एंड टेलीग्राफ) बिल्डिंग व‌र्क्स सर्विस के प्रशिक्षु अफसरों उनसे मिलने राष्ट्रपति भवन गए थे। कोविंद ने कहा कि यह सर्विस अफसरों को एक ऐसा मौका प्रदान करती है जिससे वो राष्ट्र की सेवा कर सकते हैं।

उनका कहना था कि आप लोग कई अहम परियोजनाओं का प्रबंधन करेंगे। कुछ ही नौकरियां ऐसी होती हैं जिनमें सेवा का व्यापक मौका मिलता है। टेलीकम्युनिकेशन सर्विस से जुड़े अफसरों से उनका कहना था कि यूजर्स के मामले में भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा बाजार है। टेलीकॉम सेक्टर ने बहुत तेजी से प्रगति की है और आज यह बिजली व पानी की तरह से बुनियादी सेवा बन गई है। उनका कहना था कि इस सेवा से जुड़े अफसरों को रिमोट व ग्रामीण इलाकों को मुख्यधारा में लाना होगा।

 

उनका कहना था कि पीएंडटी (पोस्ट एंड टेलीग्राफ) बिल्डिंग व‌र्क्स सर्विस भी अहम क्षेत्र है। भवनों के निर्माण व उनके रखरखाव में यह सेक्टर महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। राष्ट्रपति ने डिफेंस स्टेट अफसरों से कहा कि आज हालात पहले से बदल गए हैं। केंटोनमेंट इलाके शहरों का हिस्सा बन गए हैं और इस सेवा से जुड़े अफसर शहरीकरण को नए आयाम दे सकते हैं।