चुनावी रैली में हमला 21 की मौत 16 घायल

पेशावर न्‍यूज 4 इंडिया। पाकिस्‍तान में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव से पहले सुरक्षा की पोल खुल गई है। देश में 37 हजार जवानों की तैनाती के बावजूद पेशावर में 10 जुलाई को देर रात अवामी नेशनल पार्टी की चुनावी रैली में फिदायीन हमला हुआ। इस हमले में 21 लोगों की मौत हो गई। 69 लोग घायल हो गए। विस्‍फोट में मारे गए लोगों में एएनपी नेता हारून बिलौर भी शामिल हैं। वे पेशावर की पीके-78 सीट से प्रांतीय उम्‍मीदवार थे। हमले के वक्‍त वे सभा को संबोधित करने जा रहे थे। जैसे ही स्‍टेज पर पहुंचे हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। घायलों में हारून का 16 साल का बेटा दानियाल भी है। हमले में करीब 8 किलो डायनामाइअ का इस्‍तेमाल किया गया है। यह हमला पाकिस्‍तान की आतंकवाद रोधी एजेंसी क अलर्ट जारी करने के एक दिन बाद ही हुआ है। हारून के पिता एएनपी के पूर्व नेता बशीर अहमद बिलौर थे उनकी मौत भी 2012 में ऐसे ही आत्‍मघाती हमले में हुई थी। एएनपी का खैबर पख्‍तूनख्‍वा में 2008 से 2013 तक शासन रहा है।

हमला करने वाले आतंकी संगठन पाक तालिबान ने कहा यह एएनपी के शासन के समय हुए हमारे गुर्गों की हत्‍या का बदला है। पाकिस्‍तान के चुनाव आयुक्‍त सरदार मुहम्‍मद रजा ने कहा, ये हमारे सुरक्षा संस्‍थानों की कमजोरी दिखाता है। उधर, पाकिस्‍तान तहरीके-ऐ-इंसाफ प्रमुख इमरान खान ने कहा कि बिलौर की मौत दुखदायक है। सभी पार्टियों और नेताओं को चुनाव प्रचार में पुख्‍ता सुरक्षा मिले।

Related posts

Leave a Comment