बड़ा साइबर क्राइम ,रहे सावधान 

भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। अपराधियों द्वारा अब पासवर्ड और ओटीपीजाने बिना ही खातों से रूपए ट्रांसफरकिए जा रहे हैं। लोगों को खाते से रूपए ट्रांसफर होने का मैसेज आने पर इसका पता चलता है। सायबर सेल ने एक ऐसे ही गिरोह के सदस्‍य को गिरफ्तार किया है। आरोपी उपभोक्‍ताओं को कमीशन का लालच देकर उनसे बिजली तथा मोबाइल बिल की राशि लेकर अपराधियों से उनके बिल ऑनलाइन पेमेंट कराता था। एसपी सायबर क्राइम जितेंद्र सिंह के अनुसार इंदौर में सहायक प्राध्‍यापक प्रीति सेंगर मार्च 2018 में भोपाल आ रही थीं1 उसी दौरान उनके मोबाइल ऑनलाइन ट्रांसजेक्‍शन के लिए ओटीपी आया तथा अगले ही पल खाते से 16 हजार रूपए ट्रांसफर हो गए। प्रीति ने सायबर थाना भोपाल में शिकायत की थी। एसएमएस में पर्याप्‍त जानकारी नहीं होने तथा बैंक से ट्रांजेक्‍शन संबंधित जानकारी नहीं मिली तो जांच अधिकारी ने सभी बड़ी पेमेंट गेटवेकंपनियों से संपर्क किया। जिसमें से एक कंपनीद्वारा उक्‍त ट्रांजेक्‍शन के संबंध में जानकारी दी गई। प्रीति के खाते से पंजाब स्‍टेट पॉवर कॉर्पोरेशन लिमिटेड का बिल पे किया गया है। पीएसपीसीएल द्वारा बताया गया कि जिस बिल का भुगतान किया गया है वह बालाजी राइस मिल, सार्दुलगढ़ जिला मानसा पंजाब का है। उपभोक्‍ता का बिल दो लाख 14 हजार रूपए का था, जिसे 14 टुकड़ों में अलग-अलग एटीएम कार्ड से ऑनलाइन जमा कराया गया है। राइस मिल मालिक ने बताया कि उनका बिल ग्राम खोखर खुर्द मानसा  में मोबाइल फोन की दुकान चलाने वाले एजेंट नरेश कुमार ने पे किया था। नरेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की। उसने खुलासा किया कि वह वाट्सएप के माध्‍यम से ऐसे अपराधियों से जुड़ा है जो लोगों से कार्ड नंबर तथा ओटीपी पूछे बिना उनके खातों से रकम ट्रांसफर कर लेते हैं।

 

Related posts

Leave a Comment