विधानसभा सचिव की बेटी को मिली जमानत 

भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। मेडिकल छात्र यश पाठे को खुदकुशी के लिए उकसाने की मुख्‍य आरोपी श्रुति शर्मा को 11 जुलाई को जमानतदे दी। इसके साथ ही मामले के अन्‍य आरोपी आकाशसोनी को भी कोर्ट ने जमानत दे दी है। विशेष न्‍यायालय में शाम 4 बजे श्रुति की जमानत में सुनवाई हुई। जमानत का विरोध करने के लिए सरकारी वकील सहित करीब पचास वकीलों ने अदालत को मैमो सोंपा था, लेकिन इनते वकीलों का विरोध भी काम नहींआया। बचाव पक्ष ने इस मामले में अदालत को बताया कि आत्‍महत्‍या रात में की गई थी, जबकि पुलिस ने मर्ग सुबह कायम किया। अदालत ने इस तर्क को सही मानते हुए जमानत दे दी। बचाव पक्षने यह भी कहा कि आकाश 15 दिन से जेल में है, जबकि श्रुति को जेल भेजा गया है, लेकिन दोनों के विरूद्ध आत्‍महत्‍या के लिए उकसाने के कोई साक्ष्‍य नहीं मिले हैं। एक आरोपी कार्तिक खरे अब भी फरार है।

श्रुति की जमानत मिलने के बाद यश के पिता प्रहलाद पाठे ने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। उनका आरोप हैकि आरोपियों के हाईप्रोफाइल होने के कारण राजनीतिक दबाव के कारण पुलिस की जांच प्रभावित हो रही है। इसलिए सीबीआई को इस मामले की जांच सौंप जाए।

Related posts

Leave a Comment