[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: हक मांगने पर किसानों को मिलती हैं गोलियों से मौत  – News 4 India

हक मांगने पर किसानों को मिलती हैं गोलियों से मौत 

खजुराहो न्‍यूज 4 इंडिया।  मप्र कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के चेयरमैन ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने 11 जुलाई को कहा है कि प्रदेश में हक मांगने पर किसानों को गोली मिलती है। मंदसौर में 6 किसानों को हत्‍या के 13 माह बाद सरकार रिपोर्ट पेश नहीं कर पाई तो क्‍या इन हत्‍याओं के लिए खुद मुख्‍यमंत्री जिम्‍मेदार है, शिवराज सिंह चौहान इसका जवाब दें। किसानों के आक्रोश को देखते हुए सरकार ने समर्थन मूल्‍य बढ़ाने की घोषणा कर दी, लेकिन लागत मूल्‍य, डीजल पेट्रोल, खाद, बीज सिंचाई के बढ़ते दाम का आकलन कर तय नहीं किया गया। इससे लगता है कि भाजपा की केंद्र एवं प्रदेश सरकार किसान मुक्‍त भारत चाहती है सिंधिया ने 11 जुलाई को खजुराहो में संभागीय चुनाव अभियान समिति की बैठक के बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्‍होंने किसानों की दुर्दशा पर चर्चा करते हुए कहा कि 10 फीसदी ही सरकारी खरीदी होती हे हर किसान उपज समर्थन मूल्‍य से कम पर खरीदी न हो यह बात तय होनी चाहिए। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के 10 दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ होगा। सिंधिया ने प्रदेश में महिलाओं पर बढ़ते अत्‍याचार, बच्चियों के साथ रेप का जिक्र करते हुए कहा कि यह तो तय होगया है कि प्रदेश में मामा के राज में महिला, बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। प्रदेश महिला हिंसा में सबसे आगे है। शिवराज सिंह को सत्‍ता में रहने का हक नहीं है।

व्‍यापमं बनेगा चुनावी मुद्दा

एक सवाल के जवाब में सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस ने कटनी के हवाला कांड एवं व्‍यापमं घोटाला को हर मंच पर प्रमुखता से उठाया है। इन दोनों मुद्दों को हम जनता के बीच लेकर जाएंगे तथा चुनावी मुद्दा बनेगा। उन्‍होंने बुंदेलखंड को कांग्रेस सरकार में दिया गया विशेष पैकेज में हुए भ्रष्‍टाचार एवं मजदूरों का पलायन, बुंदेलखंड क उपेक्षा, एनटीपीसी, छतरपुर में मेडिकल कॉलेज का जिक्र करते हुए इसे चुनावी मुद्दा बनाने की बात कही।

जीतने वालों को मिलेगी टिकट

सिंधिया ने टिकटों के बंटवारे को लेकर कहा कि मेरी राय है कि जीतने वाले को ही टिकट दी जाए। इसमें गुजराती जैसी कोई बात नहीं है। सभी नेता प्रदेश में सरकार बनाने संकल्पित हैं। 30 फीसदी नए चेहरों को टिकट दी जाए जिन्‍होंने कभी विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा, उनका क्षेत्र में प्रभाव और बैक ग्राउंड अच्‍छा हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *