उमा भारती को मिला कोर्ट का नोटिस 

जबलपुर न्‍यूज 4 इंडिया। हाईकोर्ट ने पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय‍ सिंह की याचिका पर पूर्व मुख्‍यमंत्री एवं केंद्रीय मंत्री उमा भारती को नोटिस जारी किया है। जस्टिस एसके पालो की एकल पीठ ने यह नोटिस मानहानि के एक मामलेमें बचाव पक्ष के गवाह का पुन: परीक्षण कराए जाने की मांग को लेकर दायर याचिका पर दिया है। एकल पीठ ने तीन सप्‍ताह में जवाब देने का निर्देश दिया है। याचिका की अगली सुनवाई6 अगस्‍त को नियत की गई है।

प्रकरण के अनुसार वर्ष 2003 में दिग्विजय सिंह प्रदेश के मुख्‍यमंत्री थे उमा भारती ने उनके खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिया था इस मामले में दिग्विजय सिंह ने भोपाल की निचली अदालत में उमा भारती के खिलाफ मानहानि का प्रकरण दायर किया था। मामले में दिग्विजय सिंह की तरफ से गवाही पूरी हो चुकी है। उमा भारती की तरफ से बचाव में गवाही चल रही है। श्री सिंह के अधिवक्‍ता ने भोपाल की सीजेएम कोर्ट में बचाव पक्ष के एक गवाह का पुन: परीक्षण कराए जाने के लिए आवेदन दिया। सीजएम ने गवाह का पुन: परीक्षण कराए जानेका आवेदन खारिज कर दिया। इस आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है। याचिका की प्रारंभिक सुनवाई के बाद एकल पीठ ने उमा भारती को जवाब देने के लिए  नोटिस जारी किया है। याचिका में अधिवक्‍ता अजय गुप्‍ता और राजीव मिश्रा पैरवी कर रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment