विवादों के चक्‍कर में अधर में लटकी पढ़ाई

छिन्‍दवाड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। अतिथि शिक्षकों और कर्मचारियों की नियुक्ति को लेकर विवादों में आए जिले के सिंगारदीप और जुन्‍नारदेव एकलव्‍य विद्यालय का मामला अभी भी उलझा हुआ है। नियुक्ति पर सवाल खड़े होने के बाद अधिकारियों ने फिलहाल चयनित आवेदकों को भी ज्‍वानिंग देने से साफ इंकार कर दिया है। जिस वजह से इन स्‍कूलों की पढ़ाई ठप्‍प हो गई है। इधर चयनित हुए आवेदक लगातार शिकायत कर रहे हैं, कि जिन अभ्‍यर्थियों का चयन इस बार इन दोनों विद्यालयों में किया गया है। उसमें नियमों की खुली अव्‍हेलना की गई। अयोग्‍य अभ्‍यर्थियों की भर्ती की गई है अब तक तीन बार इस मामले की शिकायत हो चुकी है। जिसके बाद अधिकारियों ने पूरी प्रक्रिया ही रोक दी। अब कहा जा रहा है कि सुनवाई के बाद पूरे प्रकरण में निर्णया लिया जाएगा, लेकिन इन सबके बीच यहां पढ़ाई करने वाले बच्‍चे अधर में हैं। पहले से ही शिक्षकों की कमी से जूझ रहे इन स्‍कूलों में अतिथियों की भर्ती में गड़बड़ी होने से पढ़ाई पूरी तरह बंद हो गई है।

ये है विवाद

विवाद की वजह यहां अभ्‍यर्थियों का चयन है। जिसको लेकर कहा जा रहा है कि 48 फीसदी अंक लाने वालों को भी यहां नियुक्ति दे दी गई। जबकि वे पात्र ही नहीं हैं। विवाद यही खत्‍म नहीं हुआ। जिनकी नियुक्ति जुन्‍नारदेव में की गई थी उसे सिंगारदीप पहुंचाया जा रहा है।

इन दोनों ही विद्यालयों में गणित, विज्ञान, अंग्रेजी सहित संस्‍कृत और सामाजिक विज्ञान के पदों के लिए ये भर्ती की गई थी। सालों से ये पद यहां खाली हैं। जिसमें आज तक नियुक्ति नहीं की गई। जो अतिथि सिलेक्‍ट किए गए हैं उनकी योग्‍यता पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment