फसल बर्बादी का कारण बनी तूफानी हवा

उमरेठ/परासिया न्यूज 4 इंडिया। उमरेठ क्षेत्र के ग्राम बीजकवाड़ा में सोमवार को आए आंधी तूफान से दर्जनों किसानों की मक्का फसल बर्बाद हो गई है। आंधी तूफान और तेज बारिश के कारण लगभग 20 एकड़ की मक्का फसल गिर गई। सोमवार की शाम अचानक मौसम बदला और तेज आंधी तूफान भी आने लगा आंधी तूफान का सबसे ज्यादा असर उमरेठ क्षेत्र में देखने को मिला है। उमरेठ के बीजकवाड़ा ग्राम में 7-8 किसानों का मक्का आंधी तूफान के कारण जमीन पर लेट गया है। इस फसल में मक्के का भुट्टा तो लग गया हैं, लेकिन अब तक दाने नहीं आए हैं। किसानों को फसल बर्बाद होने के कारण लाखों रू. की नुकसानी का अनुमान लगाया जा रहा है। मंगलवार को फसल बर्बाद होने के कारण क्षेत्र के किसानों ने उमरेठ पहुंचकर तहसीलदार से फसल के मुआवजे की मांग भी की है।

दो दिन बाद होगा बर्बाद फसल का सर्वे

मंगलवार को क्षेत्र के दर्जनों किसान मुआवजे की मांग को लेकर उमरेठ तहसीलदार के पास पहुंच । तहसीलदार मीना दशरिया  ने किसानों का आवेदन लेकर दो दिन बाद सर्वे कराने की बात कही है। इस संबंध में किसानों का कहना है कि प्रशासन उनकी नहीं सुन रहा है। तहसीलदार को आज ही सर्वे कराना था, लेकिन तहसीलदार ने दो दिन बाद सर्वे कराने की बात कही है।

आंधी तूफान के कारण मक्का की फसल गिर गई है। हमारा लगभग 10 एकड़ की फसल का नुकसान हुआ है। सर्वे कराने के लिए भी तहसीलदार ने दो दिन बाद कराने की बात कही है। किसान अविनाश इन्दुलकर का कहना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *