[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा- सेक्स रैकेट के पीछे कोई नेता या वीआईपी तो नहीं – News 4 India

हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा- सेक्स रैकेट के पीछे कोई नेता या वीआईपी तो नहीं

इलाहाबाद न्‍यूज 4 इंडिया।देवरिया जिले के बालगृह बालिका शेल्टर होम में कथित यौन शोषण के मामले में सीबीआई जांच की मॉनिटरिंग इलाहाबाद हाईकोर्ट  करेगा। देवारिया मामले में दाखिल जनहित याचिका पर 8 august को सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस डी बी भोसले और जस्टिस यशवंत वर्मा की खंण्डपीठ ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट सीबीआई जांच की मॉनिटरिंग करेगी इसके साथ ही कोर्ट ने सीबीआई से 13 अगस्त कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है। 13 अगस्त मामले की अगली सुनवाई होगी।

सेक्स रैकेट के पीछे कोई नेता या वीआईपी तो नहीं: कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि सेक्स रैकेट के पीछे कोई राजनेता व वीआईपी तो नहीं है। किसके संरक्षण शेल्टर होम में सेक्स रैकेट हो रहा था। जब संस्था ब्लैक लिस्टेड थी तो पुलिस संस्था में लड़कियां क्यों पहुंचाती थी। कोर्ट ने पूछा कि पुलिस पर कार्रवाई क्यों नहीं की जाए? कोर्ट ने पूछा- रोज किसकी कारें आती थीं और बच्चियों को सुबह कौन वापस लाता था। 48 लड़कियों में से अभी भी 7 लड़कियां लापता हैं।

स्त्री अधिकार संगठन ने दाखिल की थी याचिका: मामले में स्त्री अधिकार संगठन ने याचिका दाखिल की थी। सामाजिक कार्यकर्ता डॉ पद्मा सिंह ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए मांग की है कि सीबीआई जांच हाईकोर्ट की नगरानी में हो इसके साथ ही याचिका में कहा गया है कि यूपी के सभी शेल्टर हाउस को बेहतर सुविधाएं दी जाएं और अवैध रूप से चल रहे शेल्टर हाउस को बंद करने की मांग की गई है।

लड़की के भागने के बाद मामला सामने आया: 5 अगस्त को बालिका गृह से एक लड़की भाग गई थी। स्थानीय लोगों ने इसे पुलिस के पास भेज दिया। पूछताछ में उसने बताया कि बालिका गृह से लड़कियों को रात में बाहर भेजा जाता था। बड़ी-बड़ी गाड़ियों में लोग आते थे और लड़कियों को ले जाते थे। सुबह लड़कियां रोती हुईं आती थीं। इस आश्रय स्थल की मान्यता पिछले साल ही रद्द की जा चुकी थी। इसके बाद भी यहां लड़कियों को भेजा जाता रहा। संस्था के रिकॉर्ड में 42 बच्चों के नाम दर्ज है, जबकि पुलिस के छापे में यहां 20 लड़कियां और तीन लड़के मिले थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *