[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: हम महिलाएं भी किसी से कम नहीं ,कर दिया कमाल  – News 4 India

हम महिलाएं भी किसी से कम नहीं ,कर दिया कमाल 

 

एडिनबर्ग न्‍यूज 4 इंडिया। ऑस्‍ट्रेलिया की वेटलिफ्टर लेह होलैंड-कीन (29 साल) ने 332 किलो वजनी ‘डिनी स्‍टोंस’ उठाकर रिकॉर्ड बनाया। पेशे से नर्स होलैंड ऐसा करने वाली दुनिया की सिर्फ दूसरी महिला हैं। वे इन पत्‍थरों को उठाकर सबसे ताकतवर महिला बनीं। होलैंड से पहले अमेरिका की जैन टॉड 1979 में इन पत्‍थरों को लिफ्ट करने वाली पहली महिला थीं। अब तक 90 वेटलिफ्टर इन पत्‍थरों को उठाकर अपना शक्ति प्रदर्शन कर चुके हैं। होलैंड ने पिछले साल भी इन पत्‍थरों को उठाने की कोशिश की थी, लेकिन वे सफल नहीं हो पाई थीं।

स्‍कॉटलैंड के स्‍ट्रॉन्‍गमैन डिनी के नाम पर पत्‍थरों का नाम

ग्रेनाइट के ये पत्‍थर स्‍कॉटलैंड के एबरडीनशायर के पोतार्च ब्रिज के पास पाए गए थे। 1860 में इस ब्रिज के निनोवेशन के लिए इन पत्‍थरों को हटाने की जरूरत पड़ी तब स्‍कॉटलैंड के स्‍ट्रॉन्‍गमैन डोनाल्‍ड डिनी ने इन पत्‍थरों में लोहे के रिंग फंसाए ताकि उन्‍हें हाथों से उठाया जा सके। डिनी ने ही सबसे पहले इन पत्‍थरों का हटाया था। इसलिए इन पत्‍थरों का नाम उनके नाम पर रखा गया। 1953 से इन पत्‍थरों को उठाने का टूर्नामेंट ‘द डिनी स्‍टोन्‍स-अल्‍टीमेट स्‍ट्रैंथ चैलेंज’ होने लगा।

होलैंड ने कहा मैं पिछले साल यहां आई थी, लेकिन सफल नहीं हुई। फिर 6-7 महीने तक तैयारी करने के बाद मुझे सफलता मिली। इस चैलेंज के बाद मुझे महसूस हुआ कि शा‍रीरिक ताकत के साथ-साथ मानसिक मजबूती भी जरूरी होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *