[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: जे एम एफ सी कोर्ट नहीं दर्ज कर सकती एससी एसटी एक्ट का प्रकरण  – News 4 India

जे एम एफ सी कोर्ट नहीं दर्ज कर सकती एससी एसटी एक्ट का प्रकरण 

जबलपुर न्‍यूज 4 इंडिया। हाईकोर्ट ने एक महत्‍वपूर्ण आदेश में कहा है कि एससी-एसटी एक्‍ट के प्रकरणों में जेएमएफसी कोर्ट संज्ञान नहीं ले सकती है। इस मामले में संज्ञान लेने का अधिकार केवल एससी-एसटी एक्‍ट के तहत गठित विशेष न्‍यायालयों को है। इस अभिमत के साथ जस्टिसएसके पालो की एकल पीठ ने बालाघाट के अजाक थाने में याचिकाकर्ता के खिलाफ दर्ज एससी-एसटी एक्‍ट के प्रकरण पर रोक लगा दी है। बालाघाट निवासी मोहन हरिनखेड़े ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि उसके खिलाफ 22 फरवरी 2015 को शारदा मेश्राम नामक महिला ने अजाक थाने में गाली-गलौच और मारपीट की शिकायत की थी। अजाक थाना प्रभारी ने अपनी रिपोर्ट में आरोप को गलत बताया था। इसके बाद शिकायतकर्ता ने जेएमएफसी कोर्ट में परिवाद दायर किया। जिस पर जेएमएफसी कोर्ट ने उनके खिलाफ धारा 323 और 341 का प्रकरण दर्ज कर लिया। इस आदेश को अपील के जरिए एडीजे कोर्ट में चुनौती दी गई। एडीजे ने जेएमएफसी का आदेश निरस्‍त कर शिकायतकर्ता के कथन के अनुसार एससी-एसटी एक्‍ट का प्रकरण दर्ज कर लिया। इस आदेश को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई। याचिकाकर्ता की ओर से बताया  गया कि जेएमएफसी कोर्ट को एससी-एसटी एक्‍ट के तहत प्रकरण दर्ज करने का अधिकार नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *