शादी के कर्ज से बचाने उठाया कदम

नागपुर न्यूज 4 इंडिया। पहले से ही कर्ज के बोझ तले पिता को और कर्ज लेने से बचाने के लिए बेटी ने जहर पीकर खुदकुशी  कर ली। घटना नांदेड़ जिले की किनवट तहसील के ग्राम गोकुंदा में 4 अक्टूबर को हुई, लेकिन इसका खुलासा 5 अक्टूबर को हुआ। सुसाइड नोट में उसने लिखा है कि दहेज का हम सभी विरोध करते हैं मुझे मालूम है कि घर की परिस्थतियां बहुत खराब हैं। पढ़ाई का खर्च निकलना भी आसान नहीं है। ऐसे में मेरी शादी के लिए बाबा और कर्ज लें यह मुझे स्वीकार नहीं है। इस वजह से मैंने जीवन समाप्त करने का निर्णय लिया है। मुझे मालूम है कि बाबा को इससे दुख होगा, लेकिन यह दुख कर्ज से तो कम ही होगा। किनवट तहसील के भीषी गांव के निवासी विलास शिरगिरे की बेटी पूजा पढ़ने के लिए अपने छोटे भाई के साथ किनवट में एक किराए के मकान में रह रही थी। उसके पिता अल्प भूधारक किसान हैं। घर की परिस्थिति अत्यंत खराब होने और सिर पर कर्ज भी होने के कारण विलास मजदूरी कर बच्चों की षिक्षा का खर्च निकाल रहे थे। बेटी की शादी के लिए उन्होंने एक परिवार से बात की जिसने दहेज के रूप में पांच लाख रूपए की मांग रखी। यह बात सामने आने पर माता पिता को परेशानी से बचाने के लिए बेटी ने आत्महत्या करने का कदम उठाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *