घर से अगवा कर पुलिसकर्मियों की कर दी हत्या 

नई दिल्‍ली न्‍यूज 4 इंडिया। पाकिस्‍तान बॉर्डर पर बीएसएफ जवान के साथ बर्बरता के तीसरे दिन 21 सितंबर को आतंकियों ने जम्‍मू-कश्‍मीर के शोपियां में 3 पुलिसकर्मियों की अपहरण के बाद गोली मारकर हत्‍या कर दी। घाटी में आतंकवाद के तीन दशक में पहली बार पुलिसकर्मियों को घरो से अगवा कर हत्‍या की गई है। अभी तक आतंकी राह चलते या ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों को ही निशाना बनाते थे।

इधर घटना पर सख्‍त रूख दिखाते हुए भारत ने पाकिस्‍तान के साथ न्‍यूयॉर्क में प्रस्‍तावित विदेश मंत्री स्‍तर की वार्ता रद्द कर दी। पाकिस्‍तान के आग्रह पर भारत ने 20 सितंबर को ही इस पर सहमति जताई थी, लेकिन पड़ोसी देश के नापाक इरादों के चलते 24 घंटे में फैसला बदलना पड़ा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने कहा, पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का असली चेहरा बेनकाब हो गया है। उनकी कथनी व करनी में भारी अंतर है। एक तो हमारे सुरक्षाकर्मियों की बर्बर हत्‍या की गई। दूसरे पाक ने आतं‍कवादियों को गौरवान्वित कर उन पर 200 डाक टिकट जारी किए।

पाक के बेशर्म बोल

वार्ता की पेशकश के बीच बेशर्मी से आतंकवाद को पनाह दे रहे पाकिस्‍तान ने उलटे भारत पर ही बातचीत नहीं करने का आरोप लगाया है। पाकिस्‍तानी विदेश मंत्रीशाह महमूद कुरैशी ने कहा कि वार्ता से इतर भारत की कुछ और प्राथमिकताएं हैं। उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली में एक ऐसा गुट है जो चाहता ही नहीं कि दोनों देशों के बीच बातचीत हो।

हिजबुल मुहाहिद्दीन के आतंकियों ने 21 सितंबर के तड़के शोपियां जिले के बाटागुंड और कापरान गांवों में स्थित घरों से कांस्‍टेबल निसार अहमद, एसपीओ फिरदौस अहमद और कुलवंत सिंह को बंदूक के बल पर अगवा किया। बाटागुंड के लोगों ने आतंकियों का पीछा कर छोड़ने की गुहार भी लगाई, लेकिन हवाई फायर कर उन्‍हें भगा दिया गया। नदी पार ले जाकर आतंकियों ने तीनों की हत्‍या कर दी। एक पुलिसकर्मी के भाई फयाज अहमद भट्ट को रिहा कर दिया। घाटी में आतंकवाद के तीन दशक में पहली बार पुलिसकर्मियों को घरों से अगवा कर हत्‍या की गई है।

6 एसपीओ के इस्‍तीफा का दावा

हत्‍या के बाद पुलिस विभाग में निचली रैंक के कर्मियों में हलचल है। छह पुलिसकर्मी इस्‍तीफा दे चुके हैं। इरशाद अहमद बाबा और ताजल्‍ला हुसैन लोन ने तो सोशल मीडिया पर भी वीडियो शेयर किया। पुलिस ने कहा कि इन सूचनाओं की पुष्टि की जा रही है। गृह मंत्रालय ने कहा- राज्‍य में किसी पुलिसकर्मी ने इस्‍तीफा नहीं दिया। दूसरी तरफ, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि राज्‍य में किसी पुलिसकर्मी ने इस्‍तीफा नहीं दिया है।

Related posts

Leave a Comment