लड़कियों के उतारे कपड़े

दमोह न्यूज 4 इंडिया। शहर के एक शासकीय हाईस्कूल स्कूल में महज 70 रूपए खोजने के लिए दो दलित छात्राओं के कपड़े उतरवाकर तलाशी ली गई। स्कूल की प्रभारी प्रधानाचार्य ने जादू-टोना कराने की धमकी तक दी। दुःखी छात्राओं ने घर लौटकर पीड़ा बयां की। पीड़ित छात्राओं के परिजन 3 नवंबर को स्कूल पहुंचे और शिकायत दर्ज कराई। इधर आरोपी शिक्षिका ने खुद को निर्दोश बताया है। वहीं कलेक्टर ने 4 नवंबर को आरोपी शिक्षिका को बुलवाकर पूछताछ करने की बात कही है।

रानी दुर्गावती स्कूल की दोनों पीड़ित छात्राओं ने बताया कि 2 नवंबर को कक्षा की एक छात्रा के 70 रूपए नहीं मिल रहे थे। शिकायत पर मैडम ज्योति गुप्ता ने बैग की तलाशी ली। पैसे नहीं मिले तो मैडम धमकाने लगी कि तांत्रिक को बुलाएंगे। इस पर हमने कह दिया कि आप बुला लो, हमने पैसे नहीं चुराए हैं। इस पर मैडम ने मेरे व अन्य छात्राओं के लोअर उतरवा दिए।

3 नवंबर को पीड़ित छात्राओं के अलावा अन्य छात्राओं ने भी बताया कि मैडम ने तांत्रिक को बुलवाकर जादू-टोना की धमकी दी थी। उस दौरान स्कूल का पूरा स्टाफ भी वहीं था।

कपड़े नहीं उतरवाए

वहीं आरोपी शिक्षिका का कहना है कि मैंने छात्राओं को डराने के लिए जादूगर को बुलाने की बात कही थी, लेकिन छात्राओं के कपड़े नहीं उतरवाए। जिस छात्रा के पैसे खो गए थे उसने ही अन्य छात्राओं से कह दिया था कि कपड़े उतारकर तलाशी के लिए मैडम ने बोला है। यह कृत्य अमानवीय है पूरी गंभीरता से मामले की जांच कर दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अजब सिंह ठाकुर, डीईओ 4 नवंबर को ही संबंधित शिक्षिका को बुलवाकर पूछताछ करेंगे।

श्रीनिवास शर्मा कलेक्टर दमोह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *