[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: ऐसे लोगों की मौत तय | News 4 India

ऐसे लोगों की मौत तय

भोपाल न्‍यूज 4 इंडिया। 12 साल तक की बच्चियों के साथ ज्‍यादाती के दोषियों को मौत की सजा देने संबंधी विधेयक 4 दिसंबर को विधानसभा में सर्वसम्‍मति से पारित हो गया है। अब राज्‍यपाल की मंजूरी के बाद केंद्र सरकार को भेजा जाएगा। और कानून के तौर पर पारित होने के लिए राष्‍ट्रपति की सहमति लेनी होगी। मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मप्र सरकार राष्‍ट्रपति से अनुरोध करेगी कि इस कानून को जल्‍द लागू करने की सहमति प्रदान करें।

ऐसा है विधेयक

12 साल तक की बच्चियों से दुष्‍कर्म के मामलों में मृत्‍युदंड या न्‍यूनतम 14 साल के आजीवन कारावास।

12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म पर फांसी के अलावा न्‍यूनतम सजा 14 से बढ़ाकर 20 साल या आजीवन कारावास।

शादी का झांसा देकर शारीरिक शोषण में भी 3 साल सजा, जुर्माने का प्रावधान।

महिलाओं का पीछा करने के मामले में न्‍यूनतम 3 और अधिकतम 7 साल की सजा के साथ जुर्माने का प्रावधान है।

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्‍यायाधीश जस्टिस फैजानुद्दीन का कहना है कि विधानसभा में कानून बनाने से कोई परिवर्तन तब आएगा, जब तक पुलिस इनवेस्‍टीगेशन पर जोर नहीं देगी। वर्तमान में दो तिहाई अपराधी सजा पाने से छूट जाते हैं, क्‍योंकि केस ही कमजोर बनता है। महिला अपराध में कमी तब आएगी, जब पुलिस अधिकारी अपने रवैये में बदलाव करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *