[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: ऐसा क्या हुआ कि महाराष्ट्र में स्कूलों की छुट्टी, गुजरात में तनाव,.... | News 4 India

ऐसा क्या हुआ कि महाराष्ट्र में स्कूलों की छुट्टी, गुजरात में तनाव,….

नई दिल्ली। चक्रवाती तूफान ओखी का कहर अब दक्षिण भारत से निकलकर उत्तर भारत की तरफ बढ़ रहा है। महाराष्ट्र में तूफानी लहरों के टकराने के बाद प्रभावित सभी जिलों के स्कूल कॉलेजों की छुट्टी घोषित कर दी गई है। गुजरात में तनाव के हालात हैं। लोग पल पल के अपडेट ले रहे हैं। मप्र के कई जिलों में हल्की बूंदाबांदी के बाद ठंड तेज हो गई है। इसके अलावा राजस्थान और अन्य राज्यों में भी हवाएं सर्द हो गईं हैं। कई इलाकों में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है जबकि कई जिलों में हल्की या तेज बारिश हुई है। मुंबई समेत कई जिलों में चक्रवात का असर
मुंबई महानगर पालिका के आपातकालीन व्यवस्थापन कक्ष ने चक्रवात के मद्देनजर नागरिकों से सावधानी बरतने की अपील की है। आगाह किया है कि चार से सात दिसंबर तक समुद्र में ऊंची-ऊंची लहरें उठेंगी। मुंबई के अलावा सिंधुदुर्ग, ठाणे, रायगढ़ और पालघर में भी चक्रवात का असर दिखा। इसके चलते शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने ट्वीट कर इन जिलों के स्कूलों, कॉलेजों में मंगलवार को एहतियातन छुट्टी का ऐलान कर दिया।
गुजरात में तनाव
ओखी गुजरात की ओर भी बढ़ रहा है। इसके मंगलवार देर रात गुजरात के तटों से टकराने के आसार हैं। मौसम विभाग ने मंगलवार देर रात गुजरात के तट से टकराते वक्त तूफान के कमजोर पड़ने की संभावना जाहिर की है। तूफान सूरत के पास समुद्र तट को डीप डिप्रेशन के तौर पर पार कर सकता है। इसे अति भीषण समुद्री चक्रवात की कैटेगरी में रखा गया है। मौसम विभाग ने दक्षिण गुजरात के समुद्र तटीय इलाकों के लिए चेतावनी जारी की है। इन इलाकों में मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है। नुकसान को कम से कम करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।
मध्यप्रदेश में बारिश
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल सहित जबलपुर, रतलाम, शिवपुरी सहित कई जिलों में बारिश के समाचार आ रहे हैं। इसके चलते ठंड तेज हो गई है। मौसम में ठिठुरन आ रही है। इसकी शुरूआत सोमवार की रात से ही हो गई थी। आधी रात को अचानक सर्दी बढ़ गई थी।
ये किए उपाय
समुद्र की ओर जाने वाले छह रास्तों को बंद कर दिया गया है।
चैत्यभूमि जाने वालों के लिए वैकल्पिक मार्ग बनाए गए हैं।
चैत्यभूमि आने वाले हजारों लोगों के लिए 350 मोबाइल शौचालय, 350 बाथरूम और स्वास्थ्य सुविधा का इंतजाम किया गया है।
नौसेना, कोस्ट गार्ड, लाइफ गार्ड और दमकल विभाग को सजग रहने के निर्देश।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *