[10:10 PM, 12/7/2017] News4indai: सौंसर बना छावनी – News 4 India

सौंसर बना छावनी

निजी स्‍कूलों में अवकाश की घोषणा

छिन्‍दवड़ा न्‍यूज 4 इंडिया। मप्र किसान संघ व राष्‍ट्रीय पिछड़ा वर्ग संघ द्वारा 11 दिसंबर को किसानों की 25 सूत्रीय मांगों को लेकर सौंसर में घेरा डालो, डेरा डालो आंदोलन का एलान किया गया है। प्रशासन से आंदोलन की अनुमति नहीं मिलने के बाद भी संघ ने आंदोलन का एलान किया और तमाम तैयारी भी शुरू कर दी। प्रशासन ने इसे चुनौती मानकर कानून व्‍यवस्‍था बनाए रखने जिला मुख्‍यालय से पुलिस बल बुला लिया है। 10 दिसंबर की शाम को नगर में पुलिस ने मार्च पास्‍ट किया। आंदोलन के आयोजकों ने प्रशासन को आगाह किया है कि आयोजन स्‍थल के मार्गों पर आवागमन में बाधा निर्मित की तो किसान उग्र हो सकते हैं।

दो कंपनी के साथ अधिकारी तैनात

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सौंसर में 10 दिसंबर की शाम दो कंपनी के साथ पुलिस अधिकारी और स्‍थानीय पुलिस बैतूल पहुंच गया है। इसमें एक डीजीपी रिजर्व और एक आईजी रिजर्व बल शामिल है। 10 दिसंबर की रात लगभग 8 बजे एडिशनल एसपी नीरज सोनी भी सौंसर पहुंए गए। पुलिस बल की कमान एसडीओपी केके वर्मा संभाल रहे हैं।

निजी स्‍कूलों में अवकाश की घोषणा

नगर में प्रस्‍तावित आंदोलन के मद्देनजर पुलिस प्रशासन ने 10 दिसंबर की शाम मुख्‍य मार्ग पर बैरिकेट्स लगा दिए हैं। इधर आंदोलन के कारण नगर के आधा दर्जन निजी स्‍कूलों ने छुट्टी की घोषणा कर दी है। नगर में व्‍यापारी और अन्‍य निजी संस्‍थानों के संचालक भी असमंजस में हैं। राष्‍ट्रीय पिछड़ा वर्ग संघ के प्रदेश महामंत्री सोपान कोहले ने बताया कि सरकार के विरोध में यह किसानों का आंदोलन है, कांग्रेस संगठन को न्‍यौता दिया गया है। सुबह 12 बजे नागपुर मार्ग स्थित एक होटल के सामने किसानों की सभा होगी। शाम 4 बजे ज्ञापन सौंपा जाएगा।

पूर्व विधायक अजय चौरे का कहना है कि प्रशासन दहशत का माहौल बना रहा है। आंदोलन मार्ग पर बेरिकेट्स लगाए गए हैं, ताकि किसान आंदोलन में नहीं पहुंचे। किसानों को आंदोलन में शामिल होने से रोका तो वे उग्र हो सकते हैं।

एसडीएम डीएन सिंह का कहना है कि हमने आंदोलन की अनुमति का आवेदन निरस्‍त कर दिया है। किसान कहीं इकट्ठा हो रहे हैं तो शांति व्‍यवस्‍था बनाए रखें कानून व्‍यवस्‍था नहीं बिगड़े, इसकी तैयारी की है। जरूरत पड़ने पर नागपुर-छिंदवाड़ा मार्ग का आवागमन परिवर्तित किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *